DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लालफीताशाही नहीं चलेगी: मोदी

लालफीताशाही नहीं चलेगी: मोदी

विशेष साक्षात्कार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमीनी हकीकत बहुत ज्यादा न बदलने की कारोबारी जगत की हालिया शिकायत पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का लाभ उठाने के लिए उद्योग जगत को आगे आना होगा। प्रधानमंत्री बनने के बाद बुधवार को भारतीय मीडिया को दिए अपने पहले इंटरव्यू के दौरान उन्होंने हिंदुस्तान टाइम्स से कहा, ‘यह समझने की जरूरत है कि मेरी सरकार आम आदमी के लिए काम कर रही है। हमारा काम नीतियों के आधार पर काम करने वाली सरकार चलाना है। लालफीताशाही नहीं होनी चाहिए, इसका मतलब मुकेश अंबानी के लिए लालफीताशाही न हो और आम आदमी के लिए लालफीताशाही हो, ऐसा नहीं चल सकता।’photo1

सरकार को लेकर उद्योग जगत की राय के बारे में पीएम ने कहा, मीडिया उन दोनों बातों को सामने रखे, एक जो कांग्रेस के मेरे मित्र आरोप लगाते हैं और दूसरी जो कारोबारी जगत की सरकार के बारे में राय है। कांग्रेस कहती है कि यह उद्योगपतियों की सरकार है और उद्योगपति कहते हैं कि हमने उनके लिए कुछ नहीं किया।

कई कंपनियों को कर देनदारी के नोटिस के सवाल पर मोदी ने कहा कि निजी क्षेत्र अभी भी शासन के परंपरागत मामले से चिपका हुआ था, इसमें कर आतंकवाद, गैर तर्कसंगत शुल्क और खास छूट शामिल है। सरकार ने आम बजट में इनमें से कई मुद्दों पर ध्यान देकर उनमें सुधार किया है। सरकार यह जानती है कि लाखों भारतीयों के लिए नौकरी और अवसर पैदा करने के लिए ऐसे कदम आवश्यक हैं। लिहाजा मैं सभी को भरोसा देता हूं कि अगर आप एक कदम आगे बढ़ेंगे तो हम आपके लिए दो कदम आगे बढ़ेंगे।
पार्टी के कुछ सहयोगियों और संघ परिवार के कुछ समूहों के भड़काऊ बयानों को लेकर उठे विवादों से मोदी ने असहमति जताई। हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया कि हर बार ऐसा कुछ होने पर उनसे सार्वजनिक तौर पर स्पष्टीकरण देने या बयान देने की उम्मीद नहीं की जा सकती।

फ्रांस, जर्मनी और कनाडा की यात्रा से एक दिन पहले अपने इंटरव्यू में पीएम ने इस विदेशी दौरे से कई सकारात्मक परिणामों की उम्मीद जताई। उन्होंने कहा कि हमारी विकास प्रक्रिया और वृद्धि से इन तीनों देशों का गहरा संबंध है। कनाडा हाइड्रोकार्बन और अन्य प्राकृतिक संसाधनों से संपन्न है। जर्मनी मैन्यूफैक्चरिंग और कौशल विकास की पहचान है और फ्रांस एक भरोसेमंद रणनीतिक साझेदार है। उन्होंने याद दिलाया कि 1998 के पोखरण परमाणु परीक्षणों के बाद फ्रांस सबसे पहले भारत के समर्थन में उतरने वाले देशों में से एक था। पीएम ने बताया कि वह अपने आधिकारिक दौरे में एक साथ कई देशों की यात्रा करना पसंद करते हैं ताकि ज्यादा लाभ हासिल किया जा सके। इस संदर्भ में उन्होंने यह भी कहा, मैं अहमदाबाद का रहने वाला हूं, जहां एक पंथ-दो काज की कहावत काफी प्रचलित है।

दक्षेस देशों को फलते-फूलते देखने की भारत की मंशा पर जोर देते हुए मोदी ने कहा, हम आतंकवाद और हिंसा से मुक्त माहौल में पाकिस्तान के साथ किसी भी मुद्दे पर द्विपक्षीय वार्ता को तैयार है। उन्होंने खुद सवाल उठाया कि क्या आतंकवाद और शांति साथ-साथ चल सकते हैं। चीन के साथ सीमा वार्ता पर मोदी ने कहा कि यह जटिल और पुरानी समस्या है, जिसे बेहद सावधानी और प्रतिबद्धता के साथ हल करने की जरूरत है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वह अपनी आगामी चीन यात्रा को आशा भरी निगाहों से देख रहे हैं और चीन के राष्ट्रपति शी ने भी द्विपक्षीय रिश्तों को मजबूत बनाने की उम्मीदें जाहिर की हैं। अभी दोनों देशों की प्राथमिकताएं जनता के आर्थिक कल्याण की है। दोनों देशों ने गंभीरता से यह फैसला किया है कि कि मतभेदों को संघर्ष में बदलने की इजाजत नहीं देंगे।

भारत-अमेरिका के रिश्तों पर मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति बराक ओबामा से दोस्ती परस्पर सम्मान और परस्पर हितों पर आधारित है और उन दोनों के संवाद से पता चलता है कि अमेरिका की भू-राजनीतिक, आर्थिक और रणनीतिक सोच में भारत एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है।

संपन्न वर्ग को एलपीजी सब्सिडी छोड़ने की अपनी हालिया सलाह के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह गरीबों पर ध्यान दे। सब्सिडी का मसला सिर्फ आर्थिक ही नहीं बल्कि मानवीय भी है। हमारे देश की संस्कृति देने की रही है, न कि दूसरों से जुड़ी वस्तुओं को बटोरने की।

दिल्ली में भाजपा की हार को मोदी लहर का अंत बताने वाले विश्लेषकों के बयानों पर पीएम ने कहा, यह दिलचस्प है कि जो लोग आम चुनाव के दौरान मोदी लहर के बारे में बात नहीं करते थे, वह इस बारे में अब गंभीरता से बहस कर रहे हैं। उन्होंने कहा, आपको लोकसभा चुनाव के बाद हुए सभी चुनावों में मिले जनादेश का सम्मान करना चाहिए। मोदी ने झारखंड, महाराष्ट्र, हरियाणा और जम्मू-कश्मीर के विधानसभा चुनाव और असम, पंजाब, मध्य प्रदेश और राजस्थान के स्थानीय चुनावों का जिक्र करते हुए यह बात कही, जहां भाजपा ने उल्लेखनीय प्रदर्शन किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लालफीताशाही नहीं चलेगी: मोदी