DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पनामा खुलासाः सैफीना ने रहस्यमयी कंपनी के साथ IPL में बोली लगाई थी

पनामा खुलासाः सैफीना ने रहस्यमयी कंपनी के साथ IPL में बोली लगाई थी

पनामा के मोसैक फोनसेका के दस्तावेजों से आईपीएल से जुड़ा एक खुलासा सामने आया है। अभिनेत्री करीना कपूर, करिश्मा कपूर और सैफ अली खान के शेयर वाली एक कंपनी ने मार्च 2010 में पुणे की टीम के लिए असफल बोली लगाई थी। इस कंपनी में एक ऐसी भी कंपनी शामिल थी, जिसके मालिक के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

एक अंग्रेजी समाचार पत्र में छपी खबर के अनुसार, मार्च 2010 में 10 सदस्यों के हस्ताक्षर वाले एमओयू के अनुसार, इन दस सदस्यों के कंसोर्टियम ने एक कंपनी पी विजन स्पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड बनाई थी। जिसका मकसद था कि शेयर धारक इसमें निवेश करेंगे और टीम की बोली जीतने के पर आईपीएल फ्रेंजाइजी को चलाएंगे।

एमओयू के अनुसार, कंसोर्टियम में 15 फीसदी शेयर ऑबडुरेट लिमिटेड के नाम है, जो ब्रिटिश वर्जीन आईसलैंड्स में बिना प्रतिनिधि वाली कंपनी है। आईपीएल फ्रेंजाइजी की बोली लगाए जाने के बाद ही यह कंपनी बंद हो गई।

एमओयू के अनुसार, इस कंसोर्टियम में सबसे अधिक 33 फीसदी शेयर कोरडिया परिवार के पास है। इस परिवार पुणे के पंचशील ग्रुप पर नियंत्रण है।

इसके अलावा अभिनेत्री करीना कपूर और करिश्मा कपूर के पास कंपनी के 4.5-4.5 फीसदी शेयर हैं। वहीं सैफ अली खान पटौदी के पास 9 फीसदी शेयर हैं। मुंबई के रहने वाले मनोज एस जैन के पास 9 फीसदी शेयर हैं। वेणुगोपाल धूत की वीडियोकॉन के पास 25 फीसदी शेयर हैं।

एमओयू में कहा गया है कि अगर आईपीएल की बोली कंपनी जीत जाती है तो ऑबडुरेट लिमिटेड और उसके 'अनजान' मालिक अदृश्य रहें।

रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज के रिकॉर्ड्स के अनुसार, फरवरी 2008 में पी विजन स्पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड को पी विजन इंटीग्रेटेड टाउनशिप्स प्राइवेट लिमिटेड के तौर पर पंजीकृत किया गया था। अतुल और सागर कोरडिया के पास 5000 शेयर हैं और प्रति शेयर की कीमत 10 रुपये है। सात मार्च को आईपीएल की बोली से लगभग दो सप्ताह पहले ही इस कंपनी का नाम बदला गया। इसके उद्देश्य रियल स्टेट डेवलपमेंट को बदलकर स्पोर्ट्स प्रमोशन कर दिया गया।

27 फरवरी 2010 को वेणुगोपाल और मनोज जैन को कंपनी का निदेशक बना दिया गया। सागर कोरडिया बोर्ड से बाहर हो गए। मार्च में आईपीएल की बोली में कामयाब न होने पर जैन और वेणुगोपाल ने अप्रैल 2010 में इस्तीफा दे दिया और सागर बोर्ड में वापस आ गए।

मोसैक फोनसेका के दस्तावेजों के अनुसार, इसने 4 मार्च 2010 को आईपीएल की बोली से जुडे़ दस्तावेज लंदन की एक लॉ फर्म चार्ल्स मिया को भेजा, जिस पर ऑबडुरेट लिमिटेड के नाम पर निदेशक रोसेल लिमिटेड के हस्ताक्षर थे। 27 अप्रैल को मोसैक फोनसेका से कंपनी को बंद करने को कहा गया। मोसैक फोनसेका को ऑबडुरेट लिमिटेड के मालिक का नाम नहीं बताया गया।

कंपनी मार्च 2010 में जब आईपीएल की बोली लगाने में सफल नहीं रही तो पी विजन कंसोर्टियम को भंग कर दिया गया। हालांकि कंपनी अभी भी सक्रिय है।

करीना कपूर, करिश्मा कपूर और सैफ अली खान की ओर से इस मामले में अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:panama papers leak mystery company was part of 2010 ipl bid