अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VIDEO: नाभा जेल से भागा खालिस्तानी आतंकी हरमिंदर मिंटू दिल्ली से गिरफ्तार

VIDEO: नाभा जेल से भागा खालिस्तानी आतंकी हरमिंदर मिंटू दिल्ली से गिरफ्तार

पंजाब के नाभा जेल से भागे खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का सरगना और आतंकी हरमिंदर सिंह मिंटू को दिल्ली पुलिस ने आज गिरफ्तार किया है। मिंटू की गिरफ्तारी दिल्ली रेलवे स्टेशन से हुई है। दिल्ली पुलिस ने बताया कि पंजाब पुलिस के साथ चलाये गये संयुक्त अभियान के तहत गिरफ्तार किया गया। उसकी गिरफ्तारी में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा और विशेष त्वरित बल ने प्रमुख भूमिका निभायी।

पंजाब पुलिस ने मंटू के छिपे होने की जानकारी दिल्ली पुलिस को मुहैया करायी थी जिसके आधार पर उसे फरार होने के 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया गया। उसे किसी अज्ञात स्थान ले जाया गया है , जहां उससे पूछताछ की जा रही है। आतंकवाद के कई केसों में आरोपी मिंटू रविवार को पांच अन्‍य कैदियों के साथ रविवार को पटियाला की नाभा जेल से फरार हो गया था।

 

पुलिस वर्दी में जेल में घुसे, की 200 राउंड फायरिंग

रविवार सुबह 10 हथियारबंद लोग पुलिस की वर्दी में नाभा जेल में घुस आए और करीब 200 राउंड गोलियां चलाईं। इसी बीच हरमिंदर मिंटू के साथ गुरप्रीत सिंह, विक्की गोंदरा, नितिन देओल, विक्रमजीत सिंह विक्की फरार हो गए। 

पंजाब सरकार ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई करते हुए पुलिस महानिदेशक (जेल) संजीव गुप्ता को निलंबित कर दिया गया था और जेल अधीक्षक तथा एक उपाधीक्षक को बर्खास्त कर दिया था। इस मामले में उत्तर प्रदेश के शामली से कल परमिंदर नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर उसके पास से चार आधुनिकतम राइफल और काफी संख्या में कारतूस बरामद किया गया। परविन्दर पर नाभा जेल से आतंकवादियों को फरार कराने का आरोप है। आरोप के अनुसार उसने आतंकवादियों को गाड़ी मुहैय्या कराई। 

कई आतंकी हमलों में शामिल रहा है मिंटू, ISI से मिली ट्रेनिंग

49 वर्षीय मिंटू को पंजाब पुलिस ने 2014 में दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअडडे से पकड़ा था। उसे सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह पर 2008 में हुए हमले तथा 2010 में हलवाड़ा वायुसेना स्टेशन में विस्फोटक मिलने सहित 10 मामलों के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा पंजाब में शिवसेना के तीन नेताओं की हत्या की साजिश रचने के केस में भी वह वांछित था। खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का सरगना बनने से पहले मिंटू बब्बर खालसा का आतंकी था।

बब्बर खालसा से अलग होने के बाद मिंटू पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से ट्रेनिंग ले चुका है। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों का कहना है कि उसके संगठन को आईएसआई से फंड भी मिलता रहा है। वह कई बार पाकिस्तान जा चुका है। आईएसआई के पैसों पर ही हरमिंदर 2010 और 2013 में यूरोप गया। वहां इटली, बेल्जियम, जर्मनी, फ्रांस और दूसरे देशों में उसने वैसे लोगों से संपर्क साधा जो भारत में आतंकी गतिविधियों के लिए सहयोग दे सकते थे। 2013 में वह पहले पाकिस्तान गया था और उसके बाद यूरोप गया। 

नकली पासपोर्ट पर सफर करते समय पकड़ाया 

2014 में जब उसे दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया तब वह मलेशिया के नकली पासपोर्ट पर सफर कर रहा था। पासपोर्ट में उसका नाम गुरदीप सिंह था। मिंटू के बारे में बताया जाता है कि यूरोप के अलावा उसने दक्षिण पूर्व एशिया के देश, कंबोडिया, लाओस, म्यांमार और थाइलैंड में उसने संगठन का जाल फैला रखा है। पहले वह थाइलैंड से अपने ऑपरेशन को अंजाम देता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:nabhajailbreak khalistani terrorist harminder singh mintoo arrested by delhi police