DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केंद्रीय मंत्रियों ने समस्याओं-सुझावों के लिए सांसदों से साधा संपर्क

मोदी सरकार के समस्त मंत्रियों ने विभिन्न दलों के सांसदों की समस्याओं को लेकर उनसे सीधे संपर्क साधा है। इसमें रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बाजी मारते हुए सबसे पहले सांसदों को पत्र लिखा है। सांसदों के नाम से भेजे गए उक्त पत्र में उनके संसदीय क्षेत्र में रेलवे से जुड़ी समस्याओं, सुझावों अथवा मांगों को भेजने के लिए गया है।

सूत्रों ने बताया कि रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने अगस्त के आखिरी सप्ताह में सभी दलों के सांसदों को पत्र भेज दिया है। पत्र में उल्लेख है कि सांसद अपने संसदीय क्षेत्र से जुड़ी किसी भी रेलवे समस्या, सुझाव अथवा मांग के लिए स्थानीय अधिकारियों से मिल सकते हैं। इसमें जोनल रेलवे के जनरल मैनेजर (जीएम) अथवा डिविजन रेलवे मैनेजर (डीआरएम) के मोबाइल नंबर व ऑफिस के नंबर मुहैया कराए गए हैं। प्रभु ने कहा है कि स्थानीय समस्याओं के लिए उक्त अधिकारी जवाबदेह हैं।

सांसद यदि अधिकारी के जवाब से संतुष्ट नहीं हैं अथवा उन्हें रेलवे नीति से जुड़ी किसी समस्या पर बात करनी है तो वह सीधे रेल मंत्रालय में उनसे संपर्क कर सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि इस बार उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में विधानसभा चुनाव हैं। इसलिए रेल बजट को इस बार आम बजट में शामिल नहीं किया जाएगा। वित्त मंत्रालय ने भी इस बात के संकेत दिए हैं कि रेल बजट का विलय इतना आसान नहीं है। इसलिए सरकार रेल बजट अथवा अंतरिम रेल बजट पेश कर सकती है।
ऐसी स्थिति में सरकार को रेल बजट के जरिए चुनावी राज्यों के लिए लोकलुभाव घोषणाएं करने का मौका मिलेगा। विदित हो कि सांसद की अपने क्षेत्र के लिए बड़ी संख्या में नई ट्रेनें चलाने की हमेशा मांग रहती है। अपने क्षेत्र में बड़ी रेलवे परियोजनाएं लाने का प्रयास भी करते हैं। रेल की तर्ज पर सांसद दूसरे मंत्रालय से जुड़ी समस्याओं, सुझाव-मांगों को रखेंगे।

जानकारों का कहना है कि सरकार  आगामी फरवरी के बजाए जनवरी माह में आम बजट पेश करना चाहती है, ऐसे में सभी पार्टियों के सांसदों के सुझाव-मांगों को बजट में शामिल करने की प्रक्रिया के तहत यह कवायद की जा रही है। साल के अंत तक कुछ राज्यों में चुनावों की गहमागी शुरू हो जाएगी। जिससे केंद्रीय मंत्री सांसदों को पूरा समय नहीं दे पांएगे। जिससे सरकार को सांसदों की नाराजगी झेलनी पड़ सकती है। इसलिए अभी से पत्र भेजकर सांसदों की सुझाव-मांगों को मांगा जा रहा है।


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:government ministers railway minister suresh prabhu