DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रेमचंद की 136वीं जयंती पर गूगल ने डूडल बनाकर दी श्रद्धांजलि

प्रेमचंद की 136वीं जयंती पर गूगल ने डूडल बनाकर दी श्रद्धांजलि

हिंदी के अमर कथाकार मुंशी प्रेमचंद को आज उनकी 136वीं जयंती पर गूगल ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है। गूगल ने प्रेमचंद का डूडल बना कर उन्हें स्मरण किया हैं। इस डूडल में धवल कुर्ता पहने प्रेमचंद को एक कलम लेकर कुछ लिखते हुए दिखाया गया है। इस चित्र में उनके गांव में बने घर को भी दर्शाया गया है जिसके साथ बैलों की एक जोड़ी को भी दिखाया गया है, जिससे बरबस उनकी कहानी'दो बैलों की कथा'की याद हो आती है।


        
उत्तर प्रदेश के वाराणसी से चार किलोमीटर दूर स्थिति लमही गांव में 31 जुलाई 1880 का जन्मे मुंशी प्रेमचंद का वास्तविक नाम धनपत राय था और 8 अक्टूबर 1986 को 56 वर्ष की आयु में निधन हो गया।  उन्होंने तीन सौ से अधिक कहानियां और उर्दू तथा हिन्दी में कई उपन्यास लिखे थे। राजधानी समेत देश के कई शहरों में  प्रेमचंद जयंती मनायी जा रही है ।
       
कल यहां जाने माने गीतकार गुलजार ने प्रेमचंद की कृतियां 'गोदान' और 'निर्मला' को पटकथा प्रारूप में पेश करने के बाद कहा कि प्रेमचंद कि कहानियां आज भी उतनी ही प्रासंगिक हैं, जितनी उस दौर में थीं। उनकी कहानियां में दर्शाई गई समस्याएं आज भी मौजूद हैं।
       
भारत सरकार ने प्रेमचंद की 125वीं जयंती धूमधाम से मनाई थी और उनके जन्म शताब्दी वर्ष में भी देश भर में कार्यक्रम आयोजित किये गये थे। प्रेमचंद ने अपनी रचनाओं में संप्रदायिकता, गरीबी, अन्याय, दमन और शोषण के खिलाफ पुरजोर आवाज उठायी थी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:google pays tribute to famous indian writer premchand with a doodle