DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परिवार को खोने के डर से दुर्व्यवहार की शिकायत नहीं करते हैं बुजुर्ग

परिवार को खोने के डर से दुर्व्यवहार की शिकायत नहीं करते हैं बुजुर्ग

भारत में लगभग 25 से 30 प्रतिशत बुजुर्ग व्यक्तियों के साथ अनुचित, बुरा बर्ताव और यहां तक कि उन्हें यातना भी दी जाती है।

गैर सरकारी संगठन ऐजवेल फाउंडेशन द्वारा भारत में बुजुर्ग व्यक्तियों के साथ दुर्व्यवहार (एल्डर एब्यूज ऑफ ओल्डर पर्सन्स ऑफ इंडिया) नामक शीर्षक से किये गये एक अनौपचारिक अध्ययन में यह बात कही गयी है । इसमें करीब 1000 बुजुर्ग व्यक्तियों को शामिल किया गया।

इसमें बताया गया है कि अनुचित, बुरा बर्ताव या यातना सहने वाले केवल पांच प्रतिशत बुजुर्ग व्यक्ति ही सामने आते हैं और पुलिस या किसी अन्य संस्था के पास शिकायत करते हैं।

बुजुर्ग व्यक्तियों में इस डर का सबसे अधिक सामान्य कारण अपने परिवार या सहयोग खोने का रहता है। वह डरते हैं कि अपराध की शिकायत करने के कारण वद्धावस्था में तनाव और परेशानी होगी। परेशान करने वाला व्यक्ति आरोप लगाने या दोषी पाये जाने पर उनसे संबंध तोड़ सकता है।

इसका मनोवैज्ञानिक पहलू यह भी है कि लोग बुढ़ापे में अकेलापन, अलगाव और हाशिये पर रहने से परहेज करते हैं। ऐसे में वह चुप रहते हैं और दुर्व्यवहार एवं दुराचार सहते रहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:family do not hesitate to fear of losing the elderly report abuse