DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंडः सतबरवा में माओवादी कमांडर सहित 12 नक्सली ढेर

झारखंडः सतबरवा में माओवादी कमांडर सहित 12 नक्सली ढेर

पुलिस ने सोमवार देर रात लगभग दो बजे सतबरवा आउट पोस्ट के बकोरिया गांव में माओवादी जोनल कमांडर अनुराग उर्फ आरके उर्फ डॉक्टर समेत 12 नक्सलियों को मार गिराया। इनमें चार बाल दस्ते के सदस्य और एक पारा शिक्षक उदय यादव भी शामिल है। घटना मेदिनीनगर से 34 किलोमीटर दूर बकोरिया गांव के भलुआही नदी के पास एनएच-75 से महज 150 की दूरी पर हुई। पुलिस ने सभी शवों को बरामद कर लिया है। मारे गये माओवादियों के पास से आठ हथियारों समेत काफी संख्या में कारतूस, नाइन वोल्ट के स्मॉल बैटरी, एक स्मॉल लैंड माइंस, वाकीटॉकी, दवा, खाने-पीने के सामान आदि जब्त किए गए हैं।

पुलिस के अनुसार माओवादियों का यह दस्ता बीड़ी पत्ते की लेवी वसूलने जा रहा था। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया। डीजीपी डीके पांडेय ने घटना के बाद बकोरिया पहुंचकर जवानों का हौसला बढ़ाया। उन्होंने कहा कि माओवादी पुलिस को ट्रैप करने की कोशिश में थे परंतु खुद ट्रैप हो गए। उन्होंने कहा कि पलामू पुलिस के लिए यह बड़ी सफलता है।

जानकारी के मुताबिक, आरके उर्फ डॉक्टर का दस्ता माओवादियों के दूसरे दस्ते से किसी रणनीति के तहत मिलने जा रहा था। इस बात की सूचना पुलिस को थी और जवान उनकी प्रतीक्षा कर रहे थे। इसी क्रम में नक्सलियों की स्कॉर्पियो गाड़ी मौके पर पहुंची। पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में आरके सहित 12 नक्सली मारे गए। यह दस्ता 10 जून को कुमंडी पिकेट का तय उद्घाटन कार्यक्रम में गड़बड़ी करने के उद्देश्य से रेकी कर वापस लौट रहा था। मारा गया नक्सली जोनल कमांडर अनुराग उर्फ आरके और नकुल बच्चों को जबरन उठाकर नक्सली बनाने में लिप्त था। एडीजे अभियान एसएन प्रधान, आइजी ए नटराजन, आइजी सीआरपीएफ आरके मिश्रा, डीआईजी सीआरपीएफ राजीव राय ने भी घटना का जायजा लिया।

सर्च आपरेशन चलाया
माओवादियों को ट्रैप करने के अभियान में शामिल सीआरपीएफ कोबरा के कमांडेंट कमलेश कुमार सिंह, एसपी पलामू मयूर पटेल, एसपी लातेहार अजय लिंडा, सीआरपीएफ कमांडेंट सतीश कुमार लिंडा, एसपी अभियान कन्हैया सिंह, सीआरपीएफ डिप्टी कमांडेंट मुकेश सिंह यादव आदि के नेतृत्व में सुबह तक सर्च ऑपरेशन चलाया गया।

दूसरी गाड़ी को भगा ले गए नक्सली
पलामू एसपी मयूर पटेल ने बताया कि घटना रात 12 से दो बजे के बीच की है। सूचना थी कि माओवादी लेवी वसूलने के लिए बरवैया-डोगी के तरफ जा रहे हैं। इसी के आलोक में पुलिस घात लगाकर बैठी थी। नक्सली दो गाड़ियों में थे। घटनास्थल पर पहुंचते ही उन्हें रोकने का प्रयास किया गया तो माओवादी पुलिस पर फायरिंग करने लगे। जवाबी कार्रवाई में 12 नक्सली मारे गये जबकि दूसरी गाड़ी को नक्सली भगा ले गये।

कटिया कांड में शामिल था 5 लाख का इनामी अनुराग
इनामी माओवादी अनुराग उर्फ डॉक्टर कटिया मुठभेड़ में मारे गए जवान के पेट में बम प्लांट करने का आरोपी है। उसी के दिशा-निर्देश पर जवान के पेट में बम लगाया गया था। उस पर पांच लाख का इनाम है।

झारखंड में पुलिस मुठभेड़ में 12 नक्सली मारे गए हैं। इस मामले पर बात करते हुए झारखंड के सीएम रघुबर दास ने कहा,"लोकतंत्र में हिंसा की कोई जगह नहीं, पूरी दुनिया में क्रान्तियां 'सत्याग्रह' द्वारा ही लाई गई हैं।"

उन्होंने कहा,"मैं भटके हुए लोगों से अपील करता हूं कि मुख्य धारा में वापस लौट आएं, अपनी समस्या रखें और सरकार के साथ सहयोग करें।"

पुलिस की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस अपना काम अच्छे से कर रही है और लॉ एंड ऑर्डर बरकरार रख रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:encounter in jharkhand, 12 naxal killed