DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएमसीः मेयर के चुनाव की तारीख बदली, इसके पीछे है BJP की रणनीति!

बीएमसीः मेयर के चुनाव की तारीख बदली, इसके पीछे है BJP की रणनीति!

बृहन्मुम्बई महानगरपालिका (बीएमसी) के आयुक्त अजोय मेहता ने मेयर पद के चुनाव की तारीख अचानक नौ मार्च से बदलकर आठ मार्च कर दिया है। मेयर पद के लिए नामांकन चार मार्च को होगा और आठ मार्च को नामांकन वापस लिया जा सकता है। आठ मार्च को ही दोपहर 12 बजे चुनाव होगा।

सूत्रों के अनुसार संभवत: यह रणनीति भाजपा की हो सकती है क्योंकि आठ मार्च को उत्तर प्रदेश में अंतिम चरण का चुनाव होगा। यदि कांग्रेस शिवसेना का समर्थन करती है तो उत्तर प्रदेश के मतदान के दौरान कांग्रेस पर प्रभाव पड़ सकता है।

बीएमसी के चुनाव में शिवसेना को 84, भाजपा को 82, कांग्रेस को 31, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को नौ, महाराष्ट्र नवनिमार्ण सेना को सात और अन्य के पास 14 सीटें हैं। बहुमत के लिए 114 सीटों की जरूरत है।

नया घटनाक्रम इन खबरों के बीच आया है कि इस नगर निकाय में दो मुख्य दलों— शिवसेना और भाजपा में नव निर्वाचित सदन की पहली बैठक की तारीख को लेकर अलग-अलग राय थी।

एक बीएमसी अधिकारी ने बताया कि निगम आयुक्त ने आठ मार्च का दिन तय किया है जो वर्तमान सदन का आखिरी दिन है। निगम आयुक्त ही नये सदन की पहली बैठक बुलाते हैं, जिस दौरान मेयर का चुनाव होता है।

यह भी पढ़ेंः​
महाराष्ट्र: 10 निगमों में से 8 पर BJP का कब्जा, मुंबई में फंसा पेंच

BMC चुनावः मेयर पद की लड़ाई दिलचस्प, शिवसेना-BJP दोनों करेंगे दावेदारी

अगली स्लाइड में पढे़ं किस शिवसेना नेता ने कहा, हमें भाजपा की जरूरत नहीं

बीएमसीः मेयर के चुनाव की तारीख बदली, इसके पीछे है BJP की रणनीति!
बीएमसीः मेयर के चुनाव की तारीख बदली, इसके पीछे है BJP की रणनीति!

शिवसेना को भाजपा के समर्थन की जरूरत नहीं: अनिल देसाई
शिवसेना नेता अनिल देसाई ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी को मेयर पद के लिए आठ मार्च को होने वाले चुनाव में भाजपा के समर्थन की जरूरत नहीं है। देसाई ने यहां एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा, हमें भाजपा के समर्थन की जरूरत नहीं है।

महाराष्ट्र नवनिमार्ण सेना के नेता बाला नंदगांवकर के बयान कि उनकी पार्टी को शिवसेना की मदद करते हुए खुशी होगी, के बारे में पूछे जाने पर देसाई ने कहा, मनसे का समर्थन मांगने का अध्याय अब समाप्त हो चुका है।

शिवसेना ने नगर निगम चुनावों से पहले गठबंधन के मनसे के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था।

नंदगांवकर ने पुणे में कहा कि मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे इस बारे में अंतिम निर्णय करेंगे कि शिवसेना को समर्थन दिया जाए या नहीं।

मनसे से पहले शिवसेना में ही रहे नंदगांवकर ने कहा, अगर मेयर शिवसेना का बनता है तो उनको खुशी होगी। उनकी जड़ें शिवसेना में हैं।


किंगमेकर कांग्रेस: BMC में समर्थन के लिए शिवसेना के सामने है ये शर्त

बीएमसीः मेयर के चुनाव की तारीख बदली, इसके पीछे है BJP की रणनीति!
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bmc election for mayor post to be held on march 8