advertising asci patanjali ayurveda advertising false and misleading claims - बालों के तेल के भ्रामक विज्ञापन के लिए बाबा रामदेव के ग्रुप की खिंचाई DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बालों के तेल के भ्रामक विज्ञापन के लिए बाबा रामदेव के ग्रुप की खिंचाई

बालों के तेल के भ्रामक विज्ञापन के लिए बाबा रामदेव के ग्रुप की खिंचाई

विज्ञापनों की निगरानी करने वाली संस्था एएससीआई ने पतंजलि आयुर्वेद की उसके विभिन्न विज्ञापनों में झूठे और भ्रामक दावे करने के लिए खिंचाई की है। इनमें उसके कपड़ा धोने के पाउडर और बालों के तेल का विज्ञापन भी शामिल है।

भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (एएससीआई) ने कहा कि योग गुरु रामदेव से जुड़ा समूह अपने विज्ञापनों में बाजार में मौजूद अन्य विज्ञापनों को अनुचित तरीके से नीचा दिखा रहा है।

इसके अलावा एएससीआई की ग्राहक शिकायत परिषद (सीसीसी) ने जॉनसन एंड जॉनसन, अमेजन, आईटीसी और अन्य कंपनियों के विज्ञापनों के खिलाफ शिकायतों को भी देखा।

मार्च के महीने में सीसीसी को कुल 156 शिकायतें मिलीं जिसमें से 90 को उसने झूठा और भ्रामक करार दिया। इसमें शिक्षा क्षेत्र की 32 और स्वास्थ्य क्षेत्र की 30 और खान-पान क्षेत्र की 10 शिकायतें शामिल हैं।

सीसीसी ने पतंजलि के केश कांति नेचुरल हेयर क्लींजर एंड ऑयल के विज्ञापन में कहा गया है कि मिनरल ऑयल प्राकृतिक रूप से कैंसरकारक होते हैं और इनके इस्तेमाल से कैंसर हो सकता है। जो कि झूठा और भ्रामक दावा है। परिषद ने पतंजलि के कच्ची घानी सरसों तेल के विज्ञापन से जुड़ी शिकायतों पर भी इस विज्ञापन को अन्य कंपनियों के उत्पाद को नीचा दिखाने वाला पाया।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:advertising asci patanjali ayurveda advertising false and misleading claims