DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सावधान: आतंकवादी संगठन कर रहे हैं युवकों की भर्ती

सावधान: आतंकवादी संगठन कर रहे हैं युवकों की भर्ती

जम्मू-कश्मीर में दूरसंचार टॉवरों पर बार-बार हमलों और दक्षिण कश्मीर में आतंकवादी संगठनों खासकर प्रतिबंधित हिजबुल मुजाहिद्दीन में युवकों की नई भर्ती से सुरक्षा प्रतिष्ठान में खतरे की घंटियां बजने लगी हैं। सूत्रों के अनुसार, कश्मीर घाटी के पिछले तीन महीने के घटनाक्रमों की गहन निगरानी से पता चला है कि 26 लड़के खासकर दक्षिण कश्मीर के लड़के आतंकवादी संगठनों से जुड़े हैं।

मुख्य तौर पर दूरसंचार टॉवरों पर हाल के आतंकवादी हमलों पर सूत्रों ने कहा कि यह पाकिस्तान स्थित हिजबुल मुजाहिद्दीन के बीच अंदरुनी कलह का नतीजा हो सकता है। वैसे हिजबुल मुजाहिद्दीन के प्रमुख सैयद सलाहुद्दीन ने इन हमलों में अपने संगठन का हाथ होने से इनकार किया है, लेकिन सूत्रों ने कहा कि लश्कर-ए-इस्लाम उसका छाया संगठन है और यह उसके स्वयंभू कमांडर कयूम नजरवाला का अभियान है।

सबूतों को आपस में जोड़ते हुए सूत्र इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि इस हिजबुल मुजाहिद्दीन संगठन ने एक निजी दूरसंचार कंपनी के दो मोबाइल टॉवरों पर रिपीटर लगा दिए। इन रिपीटरों से सिग्नल की बारंबारता बढ़ गई और उसका इस्तेमाल यह आतंकवादी संगठन सिग्नलों को भेजने के लिए अपने रेडियो सेट पर करने लगा।

जब सुरक्षा बलों ने एक रिपीटर को जब्त कर लिया, तब इस आतंकवादी संगठन ने उस व्यक्ति को धमकी दी, जिसकी जमीन पर मोबाइल फोन टॉवर लगा था। उसके बाद श्रीनगर से 60 किलोमीटर दूर पूरे सोपोर इलाके में पोस्टर चिपकाए गए और 23 मई से लेकर एक जून तक छह आतंकवादी हमले हुए, जिनमें दो लोगों की जान चली गई और चार अन्य घायल हुए। सूत्रों के अनुसार, अब तक इस सिलसिले में आठ लोग गिरफ्तार किए गए हैं, लेकिन कोई भी इन हमलों के बारे में सुराग नहीं दे पाया है।

भर्ती हुए नए लड़कों को अभी तक प्रशिक्षण के लिए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में नहीं भेजा गया है। उन्हें ग्रेनेड दागने, छोटे हथियारों से गोलीबारी करने समेत मूलभूत प्रशिक्षण दक्षिण कश्मीर के त्राल में ऊंचाई वाले स्थानों पर और उत्तर कश्मीर के जंगलों में दिया जा रहा है। माना जाता है कि श्रीनगर में पिछले महीने दूरसंचार आॠपरेटरों पर हमले और दक्षिण कश्मीर में सीआरपीएफ जवानों की हत्या के पीछे इन्हीं रंगरुटों का हाथ है।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Security agencies worry over attacks, recruitment of youngsters by terror outfits in Valley