DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जनरल मुशर्रफ बौराये, कहा शब-ए-बारात के लिए नहीं है पाकिस्तान के परमाणु बम

जनरल मुशर्रफ बौराये, कहा शब-ए-बारात के लिए नहीं है पाकिस्तान के परमाणु बम

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और सैन्य शासक रहे परवेज मुशर्रफ ने एक भड़काऊ बयान दिया है। मुशर्रफ ने सवाल किया है कि क्या पाकिस्तान ने परमाणु बम शब-ए-बारात जैसे मौकों के लिए बनाए हैं। इसके साथ ही मुशर्रफ ने भारत से कहा कि वह पाकिस्तान को दबाने की कोशिश न करे, पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहनी हुई हैं। परवेज मुशर्रफ ने पूछा है कि पाकिस्तान ने परमाणु हथियार क्यों बनाए हैं, वे किस दिन काम आएंगे।

इससे पहले आज रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने कहा कि म्यांमार में रक्षा अभियान बदली सोच का नतीजा है और भारत की इस सख्त कार्रवाई से लोग (पड़ोसी देश) डरने लगे हैं। उन्होंने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर चुटकी ली कि डरे हुए लोगों ने प्रतिक्रिया देनी भी शुरू कर दी है। क्योंकि वे भारत के नए रुख से भयभीत हैं।

पार्रिकर ने एक सेमिनार के दौरान कहा  कि जब सोच के तरीके में बदलाव आता है, तब कई चीजें बदल जाती हैं। पिछले दो-तीन दिनों में सबने ऐसा देखा है। उग्रवादियों के खिलाफ एक सामान्य कार्रवाई ने देश में सम्पूर्ण सुरक्षा परिदृश्य के बारे में आज तक की सोच को बदल कर रख दिया है।

पार्रिकर ने कहा कि सोच में बदलाव की प्रक्रिया जरूरी है। रक्षा खरीद के सरलीकरण प्रक्रिया पर चल रहे सेमिनार में उन्होंने कहा कहा कि इस बारे में भी सोच को बदलने की जरूरत है। इस मौके पर संवाददाताओं द्वारा म्यांमार में चलाए गए रक्षा अभियान और उस पर पाकिस्तान की प्रतिक्रिया के बारे में पूछे जाने पर पार्रिकर ने कहा कि अभियान का ज्यादा ब्यौरा नहीं दिया जा सकता। लेकिन इतना साफ है कि जो लोग भारत के नये रुख से भयभीत है, उन्होंने प्रतिक्रिया व्यक्त करनी शुरू कर दी है।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के गृह मंत्री निसार अली खान ने इस कार्रवाई पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि पाकिस्तान म्यांमार की तरह नहीं है। उन्होंने भारत को चेतावनी दी थी कि उनका देश सीमापार से धमकी के आगे नहीं झुकेगा।

दरअसल, खान का बयान सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवद्र्धन सिंह राठौर की उस टिप्पणी पर आया था जिसमें उन्होंने कहा था कि मणिपुर में 18 सैनिकों को मारने वाले विद्रोहियों के खिलाफ म्यांमार में सैन्य कार्रवाई अन्य देशों के लिए भी कड़ा संदेश है। जिसकी ब्याख्या पाकिस्तान में चेतावनी की रूप में की गई।

उल्लेखनीय है कि भारतीय सेना ने म्यांमार के सेना अधिकारियों की जानकारी में सफल सीमापार कार्रवाई में कम से कम 38 उग्रवादियों को मार गिराया जिनके बारे में समझा जाता है कि वे चार जून को घात लगाकर किये गए हमले में शामिल थे। जिसमें 18 सैनिक शहीद हुए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pakistan is not Myanmar, we are a nuclear nation, minister from neighbouring country tells India