फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi NewsRSS-BJP की बैठक, कई मुद्दों पर चर्चा

RSS-BJP की बैठक, कई मुद्दों पर चर्चा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं उनके अनुषंगी संगठनों की आज तीन दिवसीय समन्वय बैठक शुरू हो गई, जिसमें शीर्ष केंद्रीय मंत्री और भाजपा के प्रमुख नेता भी हिस्सा ले रहे हैं। बैठक में विभिन्न समसामयिक मुद्दों...

RSS-BJP की बैठक, कई मुद्दों पर चर्चा
RSS-BJP की बैठक, कई मुद्दों पर चर्चा
लाइव हिन्दुस्तान टीमWed, 02 Sep 2015 05:01 PM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं उनके अनुषंगी संगठनों की आज तीन दिवसीय समन्वय बैठक शुरू हो गई, जिसमें शीर्ष केंद्रीय मंत्री और भाजपा के प्रमुख नेता भी हिस्सा ले रहे हैं। बैठक में विभिन्न समसामयिक मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है, जिसमें सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक और शैक्षणिक मुद्दों पर विचारों का आदान प्रदान शामिल हैं।

आरएसएस के प्रमुख मोहन भागवत की अध्यक्षता में हो रही इस समन्वय बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भी हिस्सा लेने की उम्मीद है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी हिस्सा लेंगे। बैठक के दौरान वन रैंक, वन पेंशन (ओआरओपी) पर पूर्व सैनिकों की मांग, गुजरात में पाटीदार समुदाय का आरक्षण आंदोलन, जनगणना के आंकड़े, संगठन विस्तार, शिक्षा नीति एवं अन्य समसामयिक विषयों पर चर्चा होने की उम्मीद है।

सूत्रों ने बताया कि संघ की समन्वय बैठक में 93 मुख्य पदाधिकारी और 15 आनुषंगी संगठन विचारों एवं नोटस का आदान प्रदान करेंगे जो समसामयिक विषयों पर हो सकते हैं। इनमें अर्थव्यवस्था, कृषि और शिक्षा समेत विविध विषय शामिल होंगे। संघ की समन्वय बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू, रसायन एवं उर्वरक मंत्री अनंत कुमार, स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा एवं अन्य केंद्रीय मंत्रियों के हिस्सा लेने की उम्मीद है।

आरएसएस का कहना है कि यह बैठक सरकार के कामकाज की समीक्षा करने के उद्देश्य ने नहीं बुलाई गई है बल्कि उसके कैलेंडर का हिस्सा है। ऐसी बैठक हर साल सितंबर और जनवरी में होती है। बैठक के दौरान सरसंघचालक मोहन भागवत, सरकार्यवाह भैय्याजी जोशी, सहसरकार्यवाह कष्ण गोपाल समेत संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी देश और विदेश में अपने अपने प्रवासों के दौरान हुए अनुभव साझा करेंगे। इसमें भाजपा के शीर्ष नेता भी विचार रखेंगे।

आरएसएस की समन्वय बैठक ऐसे समय में हो रही है जब विवादित भूमि विधेयक पर भाजपा और विपक्षी दल आमने सामने आ गए हैं और बिहार में विधानसभा चुनाव होने जा रहा है। सूत्रों ने बताया कि तीन दिन की समन्वय बैठक में चार क्षेत्रों सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और शिक्षा से संबंधित विषयों पर चर्चा होगी और संबंधित मंत्री इस दौरान मौजूद रहेंगे। इस बार बैठक में शामिल होने वालों की संख्या लगभग दोगुनी है।