DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिग्विजय बोले अमित शाह से ललित मोदी तक के आए अच्छे दिन, विपक्ष ने कहा माफी मांगें पीएम

दिग्विजय बोले अमित शाह से ललित मोदी तक के आए अच्छे दिन, विपक्ष ने कहा माफी मांगें पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने आज आरोप लगाया कि अच्छे दिन आपराधिक मामलों के आरोपियों के लिए आए हैं। उन्होंने इस संदर्भ में अमित शाह, रामदेव और ललित मोदी का नाम लिया।

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने अपने कई ट्वीट में कहा कि अच्छे दिन हत्या, फर्जी मुठभेड़, धन शोधन, फेमा के सभी आरोपियों के लिए जो अमित शाह से रामदेव से ललित मोदी तक। प्रधानमंत्री चुप। सिंह ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से एक फरार व्यक्ति की मदद के लिए हस्तक्षेप करने के मद्देनजर उनसे इस्तीफा देने की अपील की। उन्होंने कहा कि सुषमाजी के प्रति मैं काफी सम्मान रखता हूं। कभी उम्मीद नहीं की थी कि वह लुक आउट नोटिस से बचते फिर रहे एक फरार व्यक्ति की मदद के लिए हस्तक्षेप करेंगी, जब वह छुट्टी मना रहा है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि वह भाजपा की आंतरिक लड़ाई की शिकार हो सकती हैं जैसा कहा जा रहा है, लेकिन मामला अब सार्वजनिक हो गया है और मैं उनकी अंतरात्मा से अपील करता हूं कि वह इस्तीफा दे दें। एक अन्य ट्वीट में ललित मोदी के मुद्दे पर सरकार पर चुटकी लेते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि स्काटलैंड में सम्पत्ति खरीदने के लिए प्रवर्तन निदेशालय धन शोधन कानून के तहत रामदेव और बालकष्ण की जांच कर रहा है। इस मामले को भी बंद किया जा सकता है।

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने भी ललित मोदी के मुद्दे पर सरकार पर चुटकी ली। उन्होंने ट्वीट किया, पारदर्शिता के लिए, भारत सरकार को ललित मोदी के मामले में ब्रिटेन के चांसलर को लिखे गए पत्रों को सार्वजनिक कर देना चाहिए।

प्रधानमंत्री को राष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए, विपक्षी दलों की मांग
विपक्षी दलों ने आज कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा घोटाला-दागी पूर्व आईपीएल प्रमुख ललित मोदी को मदद पहुंचाने के मुददे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्पष्टीकरण देना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने मामले में सुषमा के इस्तीफे की भी मांग की। हालांकि सत्तारूढ़ भाजपा सुषमा के साथ खड़ी नजर आई, वहीं कांग्रेस ने इसके दोहरे मापदंडों की निंदा की और कहा कि विवाद पर प्रधानमंत्री को राष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए।

कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा, यह इसलिए हुआ है क्योंकि ललित मोदी भी एक मोदी हैं। इसलिए, भारत सरकार उनकी मदद कर रही है। मैं इसकी कड़ी निंदा करता हूं। मैं भाजपा के दोहरे मापदंडों की निंदा करता हूं। उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार संयुक्त रूप से जिम्मेदार है। स्वराज को तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए। क्योंकि सरकार भी, इसके लिए जिम्मेदार है, प्रधानमंत्री को राष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए।

ब्रिटिश मीडिया के अनुसार, जिसने लीक हुए ई मेल्स का हवाला दिया, ललित मोदी को यात्रा दस्तावेज उपलब्ध कराने के लिए ब्रिटेन के शीर्ष आव्रजन अधिकारी पर दबाव डालने वालों में सुषमा का नाम आया है। ललित मोदी टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में कोष के गबन के आरोपी हैं।

युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन
युवा कांग्रेस ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व प्रमुख ललित मोदी को उनकी पत्नी के उपचार के लिए लंदन से पुर्तगाल जाने में मदद देने के लिए सोमवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के घर के बाहर प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन सुषमा सफदरजंग लेन स्थित आधिकारिक आवास पर किया गया। सुरक्षाकर्मियों ने सुषमा के घर की ओर जाने वाले रास्तों पर नाकेबंदी कर रखी थी। हालांकि, इस दौरान वह घर पर नहीं थीं। प्रदर्शनकारियों के हाथों में सुषमा के खिलाफ नारे लिखी तख्तियां थीं। वे उनके इस्तीफे की मांग कर रहे थे। कुछ प्रदर्शनकारी नाकों के ऊपर चढ़ गए।

कांग्रेस नेता पी.एल.पुनिया ने सोमवार को कहा कि जिस तरह से इस मुद्दे के तार सुषमा स्वराज से जुड़े हैं, वह देश हित में नहीं है। उनके बहाने पूरी तरह से झूठे हैं और तथ्यों से मेल नहीं खाते। ब्रिटेन के समाचार पत्र 'संडे टाइम्स' की खबर के बाद यह विवाद खड़ा हुआ, जिसमें ब्रिटेन के प्रभावशाली सांसद कीथ वाज और वहां के वीजा एवं आव्रजन प्रमुख सारा रैपसन के बीच साझा किए गए ईमेल के हवाले से कहा गया है कि सुषमा स्वराज ने ललित मोदी को यात्रा दस्तावेज उपलब्ध कराने में मदद की थी।

सुषमा ने रविवार को कहा था कि उन्होंने मानवीय आधारों पर ललित मोदी की मदद की, क्योंकि उनकी पत्नी कैंसर से पीड़ित थीं और वह उनके इलाज के लिए जाना जाते थे।

ललित मोदी मामले पर स्पष्टीकरण दे सुषमा: आप
आम आदमी पार्टी (आप) ने सोमवार को आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी को मदद करने के मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से स्पष्टीकरण की मांग की है। यह मामला पिछले साल जुलाई में ललित मोदी की कैंसर पीड़ित पत्नी के इलाज के लिए पुर्तगाल जाने में उनकी मदद करने से जुड़ा है। आप नेता कुमार विश्वास ने कहा कि हम उनके इस्तीफे की मांग नहीं कर रहे, लेकिन उन्हें इस पर स्पष्टीकरण देना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे निर्णय प्रधानमंत्री कार्यालय से सलाह मशविरा किए बिना नहीं लिए जा सकते, ''यदि ऐसा नहीं है, तो उन्हें इसपर सफाई देनी चाहिए।

यह विवाद तब शुरू हुआ, जब ब्रिटिश अखबार संडे टाइम्स ने एक रपट में कहा कि ब्रिटेन में भारतीय मूल के सबसे लंबे समय से सांसद कीथ वाज और ब्रिटेन की वीजा तथा आव्रजन अधिकारी सारा रैपसन के बीच हुए ईमेल आदान-प्रदान में ललित मोदी को यात्रा दस्तावेज उपलब्ध करवाने में स्वराज के नाम का इस्तेमाल किया गया था। सुषमा ने रविवार को कहा कि उन्होंने वित्तीय अनियमितता के आरोपों के बाद 2010 से लंदन में रह रहे ललित मोदी की मानवीय आधार पर मदद की थी।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lalit Modi row, Congress steps up attack on Sushma Swaraj, wants PM Modi explanation