DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब आपको समझ आएगी डॉक्टरों की लिखावट, बड़े अक्षरों में लिखेंगे दवा का पर्चा

अब आपको समझ आएगी डॉक्टरों की लिखावट, बड़े अक्षरों में लिखेंगे दवा का पर्चा

डॉक्टर जल्द ही दवाओं का पर्चा बड़े और स्पष्ट अक्षरों में लिखेंगे, ताकि मरीजों को कोई परेशानी न हो। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ऐसी राजपत्रित अधिसूचना लाने की तैयारी में है, जिसमें डॉक्टरों से दवाओं का पर्चा बड़े अक्षरों में पढ़ने लायक लिखने के लिए कहा जाएगा।

डॉक्टरों से दवाओं के जेनेरिक नाम लिखने के लिए भी कहा गया है, ताकि लोग कम दाम में दवाएं ले सकें। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, मंत्रालय एमसीआई नियमन के तहत राजपत्रित अधिसूचना लाएगा। इसके तहत दवा का पर्चा पठनीय होना चाहिए और तरजीही रूप से यह बड़े अक्षरों में लिखा जाए तथा जेनेरिक दवाओं के नाम भी साथ में लिखे जाएं।

सूत्रों ने कहा कि मंत्रालय द्वारा एक सप्ताह के भीतर इस तरह की अधिसूचना जारी की जा सकती है। हालांकि अधिकारी ने कहा कि अधिसूचना का पालन नहीं करने पर डॉक्टरों को कोई जुर्माना या सजा नहीं होगी। उन्होंने कहा, एमसीआई के अन्य नियमन की तरह यह भी डॉक्टरों के लिए परामर्श होगा।

स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने पिछले साल संसद में कुछ सांसदों की इस चिंता को साझा किया था कि दवा के अपठनीय पर्चे के मरीजों पर गंभीर प्रभाव हो सकते हैं। इससे कुछ मामलों में मौत भी हो सकती है। भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) के के.के. अग्रवाल ने कहा कि पर्चा बड़े अक्षरों में लिखने से इसकी गलतियां कम करने में मदद मिलेगी।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Health ministry will ask doctors to write prescriptions in caps