DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ललित मोदी मदद मामले में कांग्रेस ने किया पीएम पर हमला, पूछे 11 सवाल

ललित मोदी मदद मामले में कांग्रेस ने किया पीएम पर हमला, पूछे 11 सवाल

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर आईपीएल घोटाले में फंसे ललित मोदी की मदद करने के मामले में आरोप लगाते हुए कांग्रेस पार्टी ने रविवार को सुषमा स्वराज के बहाने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा।

कांग्रेस पार्टी के नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने नरेंद्र मोदी की भूमिका पर संदेह जताया और केंद्र सरकार से सवाल किया कि क्या नरेंद्र मोदी की सरकार, ललित मोदी की मदद कर रही है। इसके साथ ही कांग्रेस ने भाजपा से 11 प्रश्न पूछे।ललित मोदी की मदद करने पर कांग्रेस ने पूछे ये 11 प्रश्न-
1-  सुषमा स्वराज ने ऐसे आरोपी की मदद क्यों की।
2.  क्या ये मदद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सहमति से की गई,  क्या मोदी, मोदी की मदद कर रहे थे, इसके लिए क्या लेन-देन हुआ है।
3- ईडी के लुकआउट नोटिस के बावजूद ललित मोदी जैसे भगोड़े की मदद क्यों की।
4-  बीजेपी के कौन से लोग हैं जो ललित मोदी की मदद कर रहें हैं।
5-  नरेंद्र मोदी काला धन वापस लाने का दावा करते हैं और 700 करोड़ के घपले के आरोपी की मदद क्यों की।
6-  प्रधानमंत्री के पारदर्शिता और भ्रष्ट्रचार मुक्त नारे का क्या हुआ।
7- शशि थरूर की पत्नी का आईपीएल में शेयर था,  तब नरेंद्र मोदी ने उनसे इस्तीफा मांगा था,  अब वो क्या करेंगे।
8- ललित मोदी के मामले में अब तक जो भी जांच हुई है, क्या वित्त मंत्री अरुण जेटली और प्रधानमंत्री उसे सबके सामने लाएंगे।
9- यूपीए के ललित मोदी के खिलाफ एक्शन की जो नीति रखी थी, उसे क्यों बदला गया।
10-  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अब ललित मोदी के खिलाफ क्या एक्शन लेंगे,  क्या वो मामला बंद करने पर विचार कर रहे हैं।
11- कहा गया कि मानवती के आधार पर मदद की गई है, क्या आगे भी ऐसी पॉलिसी पर चलेंगे।

इसके पहले केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमितशाह ने इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल)के पूर्व अध्यक्ष ललित मोदी की कथित मदद करने के मामले में विपक्ष के हमलों से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का बचाव करते हुए कहा कि मानवीय आधार पर किसी भारतीय की मदद करना कोई अपराध नहीं है। भाजपा के अलावा समाजवादी पार्टी भी सुषमा स्वराज के बचाव में आगे आई है। सपा के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा कि मानवता के आधार पर ललित मोदी की मदद करने में कोई बुराई नहीं है। लोगों को तिल का ताड़ बनाने की आदत है। सुषमा स्वराज ने कुछ गलत नहीं किया।

राजनाथ सिंह ने कहा कि सुषमा स्वराज ने मानवीय आधार पर किसी भारतीय की मदद की है और इस मामले में सरकार पूरी तरह से उनके साथ है। उन्होंने कहा कि श्रीमती स्वराज ने मानवीय आधार पर किसी भारतीय की मदद करके ठीक काम किया है।

इस मामले को ज्यादा तूल नहीं देना चाहिए: अमित शाह
अमित शाह ने भी सुषमा स्वराज का बचाव करते हुए कहा कि विदेश मंत्री कई ट्विट करके पहले ही अपनी स्थिति स्पष्ट कर चुकी है और इसलिए इस मामले को ज्यादा तूल देने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि एक भारतीय ने अपनी पत्नी के इलाज के लिए मानवीय आधार पर उनसे मदद मांगी थी और मंत्री ने केवल ब्रिटिश सरकार से इस मामले में ब्रिटिश कानूनों के तहत हर संभव प्रयास करने का अनुरोध भर किया था।

उन्होंने कहा कि यह मामला उस तरह का नहीं है जिसमे कांग्रेस के शासनकाल में बोफोर्स मामले के आरोपी ओटावियो क्वात्रोची या भोपाल गैस त्रासदी के मुख्य आरोपी वारेन एंडसर्न को भारत से भगा दिया गया था।

मानवीय आधार पर की ललित मोदी की मदद: सुषमा स्वराज
सुषमा स्वराज ने इस मामले में स्पष्टीकरण देते हुए कहा है कि ललित मोदी को लंदन में यात्रा वीजा दिलाने के लिये उन्होंने मानवीय आधार पर मदद की थी । उस समय उनकी पत्नी कैसर से पीडित थी और वे इलाज के लिए बाहर जाना चाहते थे। उन्होंने कहा कि 2०14 में मोदी ने उनसे बात की थी और कहा था कि उनकी पत्नी कैंसर से पीडित है और चार अगस्त को पुर्तगाल में उनका आपरेशन होना है।

आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी को वीजा प्रदान करने से जुड़े विवाद में ब्रिटेन ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का नाम गया घसीटा है। ब्रिटेन में यह मामला संसदीय समिति के समक्ष है। आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी को वीजा प्रदान करने का मामला ब्रिटेन में संसदीय समिति के समक्ष विचाराधीन है और इससे जुड़े विवाद में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का नाम घसीटा गया है।

ललित मोदी के खिलाफ जारी है लुक-आउट नोटिस
टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट में कोष के कथित गबन के सिलसिले में मोदी के खिलाफ भारत में लुक-आउट नोटिस जारी है। मोदी ने लंदन को अपना ठिकाना बनाया है और वह भारत आने से परहेज कर रहे हैं। भारतीय मूल के ब्रिटिश सांसद कीथ वाज की सिफारिश पर उन्हें वीजा प्रदान किया गया था।

ब्रिटिश मीडिया के अनुसार वाज ने सुषमा का नाम लेकर मोदी को ब्रिटिश यात्रा दस्तावेज प्रदान करने के लिए ब्रिटेन के शीर्ष आव्रजन अधिकारी पर दबाव डाला था ।

सुषमा ने इस संबंध में अपने कदम के बारे में कहा कि उन्होंने मानवीय दष्टिकोण अपनाया और ब्रिटिश उच्चायुक्त से कहा था कि उन्हें अपने कानून के अनुसार मोदी के आग्रह का अध्ययन करना चाहिए और अगर ब्रिटिश सरकार ललित मोदी को यात्रा दस्तावेज देना पसंद करती है तो यह हमारे रिश्तों को खराब नहीं करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Former IPL Commissioner Lalit Modi on issue of visas to unleash cleaning Sushma