DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई कांग्रेस में बढ़ी गुटबाजी

मुंबई कांग्रेस में बढ़ी गुटबाजी

मुंबई कांग्रेस में गुटबाजी बढ़ जाने से पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती अलग-अलग गुटों ने अपने तरीके से मनाई।

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरूपम ने सदभावना रैली का कार्यक्रम तय किया था। लेकिन निरूपम के कट्टर विरोधी माने जाने वाले कांग्रेस महासचिव गुरूदास कामत ने अपने समर्थकों के साथ कूपरेज मैदान में राजीव गांधी की प्रतिमा के पास जयंती कार्यक्रम पूरा कर दिया जबकि निरूपम अपने समर्थकों के साथ बाद में पहुंचे।

कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि राजीव गांधी की जयंती मनाने की परंपरा सुबह में प्रतिमा के सामने उपस्थित होकर श्रद्धांजलि अर्पित करने की है। लेकिन इस बार नए अध्यक्ष निरूपम ने मोटर साइकिल से सदभावना रैली का आयोजन किया। यह कामत और उनके गुट को पसंद नहीं आया। कामत ने अपने समर्थकों के साथ जयंती मना ली।

निरूपम विरोधी कामत के साथ पूर्व मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष जनार्दन चांदुरकर, मुंबई महिला कांग्रेस अध्यक्ष शीतल म्हात्रे और पूर्व विधायक राजहंस सिंह भी उपस्थित थे। लेकिन निरूपम को पूर्व मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष कृपाशंकर सिंह और पूर्व सांसद एकनाथ गायकवाड का साथ मिला।

मुंबई कांग्रेस के एक पदाधिकारी का कहना है कि निरूपम शिवसेना से कांग्रेस में आए हैं और वह कांग्रेस की परंपरा को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। दूसरी तरफ यह भी कहा जा रहा है कि निरूपम का बिहारी होने से विरोध बढ़ रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Congress increased factionalism in Mumbai