DA Image
Saturday, December 4, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु      

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु      

लाइव हिन्दुस्तान टीम
Mon, 05 Dec 2016 05:11 PM
एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु
  
  
1/6

 

मिट्टी में खेलने या मिट्टी खाने जैसी शरारतें कभी न कभी तुमने जरूर की होंगी। हो सकता है तुम्हारा छोटा भाई या बहन अब भी ऐसी शरारतें करता हो। यह मिट्टी हमारी धरती के लिए बहुत जरूरी है। आज इस मिट्टी से जुड़ा एक खास दिन है, यानी वर्ल्ड सॉयल डे। इस दिन को दुनिया भर के 60,000 सॉयल साइंटिस्ट यानी मिट्टी के वैज्ञानिक विशेष रूप से मनाते हैं और लोगों के बीच मिट्टी से जुड़ी जानकारियों का प्रसार करते हैं। इस मौके पर चलो जानते हैं मिट्टी से जुड़ी पांच मजेदार बातें।

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु      

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु
  
  
2/6

  1. एक मुट्ठी मिट्टी में इतने सूक्ष्म जीवाणु होते हैं, जितने पूरी धरती पर इनसान भी नहीं होते।

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु      

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु
  
  
3/6

2.टॉप सॉयल यानी मिट्टी की सबसे ऊपरी परत उसकी सबसे उपजाऊ परत होती है। एक इंच टॉप सॉयल को बनने में तकरीबन पांच सौ साल लगते हैं।

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु      

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु
  
  
4/6

3.धरती का 0.01 प्रतिशत पानी मिट्टी सोख लेती है। इस तरह यह बाढ़ से बचाव करती है। मिट्टी अंडरग्राउंड वॉटर यानी धरती के नीचे मिलने वाले पानी को छानने का भी काम करती है।

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु      

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु
  
  
5/6

        4.यूएस में 70000 तरह की मिट्टी पाई जाती है।

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु      

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु
  
  
6/6

5.तुमने बगीचे की मिट्टी में पौधों को उगते हुए देखा होगा, पर पौधों को बिना मिट्टी के भी उगाया जा सकता है। इस तकनीक को हाइड्रोपोनिक्स कहते हैं। हालांकि, मिट्टी में उगाए जाने वाले पौधों को जो पोषण मिलता है, उसकी कोई बराबरी नहीं है।
 

 

एक मुट्ठी मिट्टी में धरती के सारे इंसानों से ज्यादा जीवाणु      

अगला लेख
अगला लेखयूरी गैलर
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें