अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फाइल में समेट लो सारा गार्डन 

फाइल में समेट लो सारा गार्डन 

गार्डन में समय बिताना तुम्हें अच्छा लगता है न! हो सकता है कभी तुमने पापा के साथ बगीचे में काम करते समय कोई पौधा भी लगाया हो। अच्छा गार्डनर बनने के लिए पौधों के बारे में जानकारी इकट्ठा करना जरूरी हो जाता है। और ऐसा तुम हरबेरियम बनाकर कर सकते हो। बहुत सारे बच्चों को स्कूल में हरबेरियम बनाने का प्रोजेक्ट दिया जाता है। अगर तुम्हें भी ऐसा कोई प्रोजेक्ट दिया गया है तो तुम्हें इसे बनाने में बहुत सारा मजा आने वाला है। इसे बनाने के बहाने तुम्हें नेचर के पास जाने का मौका भी मिलेगा। जरा सोचो... तुम्हारे पसंदीदा पौधों की पत्तियां या फूल अगर  हमेशा के लिए सुरक्षित रह जाएं तो कितना अच्छा रहेगा न। हरबेरियम बनाने के लिए एक अलग फाइल आती है, जिसमें तरह-तरह की पत्तियां और फूल संजोकर रखे जाते हैं। अपने पापा-मम्मी से पूछोगे तो वो तुम्हें बताएंगे कि कैसे उन्होंने भी स्कूल के दिनों में हरबेरियम बनाया था। कैसे पत्तियों, फूलों को इकट्ठा करके, सुखाकर उन्होंने इन सबकी एक फाइल बनाई थी। हरबेरियम बनाने के लिए कुछ खास बातों का ध्यान रखना होता है। चलो इस बारे में जानते हैं। 

हरबेरियम है क्या

हरबेरियम सूखी पत्तियों और फूलों का संग्रह होता है। इन सूखी पत्तियों और फूलों को सख्त कागज पर चिपकाया जाता है। साथ ही कागज पर चिपके फूलों या पत्तियों के पास उनसे जुड़ी खास बातें, जैसे उनका वैज्ञानिक नाम, प्रजाति, अंग्रेजी नाम, उन्हें कहां से लिया गया, उपज का समय, उन्हें इस्तेमाल करने के तरीके और हरबेरियम बनाने वाले का नाम आदि लिखी जाती हैं।

क्यों बनाते हैं इसे 
अलग-अलग तरह के पौधों को लंबे समय के लिए संरक्षित करना (संभाल कर रखना) ही हरबेरियम बनाने का मकसद होता है। इस तरह से लोग जान पाते हैं कि किसी पौधे की क्या खासियतें हैं और वह हमारी जिंदगी के लिए कितना जरूरी है। तुम जानते हो, ‘फादर ऑफ मॉडर्न टेक्सोनॉमी’ कहे जाने वाले स्वीडन के कैरोलस लिनीयस ने अपने हरबेरियम में 14,000 नमूने संरक्षित किए थे।

नमूने चुनने का तरीका
हरबेरियम में जड़ें, बीज, पत्तियां या फूल- इनमें से किसी का भी का चयन किया जा सकता है। एक ही जगह से पौधों के नमूने इकट्ठा करने से बेहतर है कि इन्हें कई अलग-अलग जगहों से इकट्ठा किया जाए, जैसे घर         की क्यारी, मोहल्ले का बगीचा, नदी किनारे लगे पौधे या फिर आस-पास का कोई जंगली इलाका। पौधों की पहचान करने के लिए किताबों की मदद भी ली जा सकती है। पौधे इकट्ठा करके उन्हें उसी दिन किसी पुरानी किताब या नोटबुक के पन्नों के बीच में सूखने के  लिए रख देना चाहिए। इन्हें सही तरीके से दबने और सूखने में एक से तीन हफ्तों का समय लगता है। 

  •   अगर फूलों का हरबेरियम बनाना है, तो इसके लिए सबसे अच्छा समय गर्मी और बरसात का रहेगा। इसी वक्त ज्यादातर पौधों में फूल आते हैं। 
  •   पौधों के नमूने लेने का सबसे अच्छा वक्त तब होगा, जब उनमें जरा भी नमी न हो। वो सूखे हुए दिखें। सुबह-सुबह और बरसात में पौधों के नमूने लेना मुश्किल होता है। इसके साथ ही गर्मी के मौसम में भी बहुत ज्यादा धूप के वक्त पौधों से पत्तियां और फूल तोड़ने से बचना चाहिए, क्योंकि इस वक्त ये बिल्कुल भी ताजे नहीं लगते हैं। 
  • सुबह और दोपहर के बीच का समय पौधे चुनने के लिए सही रहता है।
  • एक बार में तीन नमूने इकट्ठा करना ही सही रहता है। विशेषज्ञ मानते हैं कि ऐसा करने से आप हर पौधे को जरूरी समय दे पाते हैं। जबकि 4 से ज्यादा नमूने इकट्ठा करने पर उनके सही तरीके से सहेजे न जा सकने की संभावना रहती है।
  • अगर पूरे पौधे को सहेज रहे हैं, तो जिस नमूने में हर जरूरी हिस्सा हो, उसे बेस्ट कहा जाएगा। जैसे पत्तियां, फूल, तना, बीज और  जड़। 

250 साल पुराना हरबेरियम अब ऑनलाइन
स्कॉटलैंड की राजधानी एडिनबर्ग से साल 1779 में मेडिसिन में डॉक्टर की डिग्री लेने वाले डॉ. आर्थर ब्रॉटन ने ब्रिस्टल और जमैका में सालों पहले हरबेरियम बनाया था, जिसे सबसे पुराना हरबेरियम भी कहा जा सकता है। इसमें कई नमूने 250 साल पुराने भी हैं। खासतौर पर जमैका से इकट्ठा किए नमूनों में एक कैसिया ब्रॉटनी भी है जिसका नाम डॉ. ब्रॉटन के नाम पर रखा गया है, क्योंकि उन्होंने ही इसे ढूंढ़ा था। यह हरबेरियम अब ऑनलाइन भी देखा जा सकता है। ‘दि नेचर हिस्ट्री टीम’ ने हाल ही में यह घोषणा की है।

बनाओ हरा-भरा ग्रीटिंग कार्ड
हरबेरियम बनाते समय जो फूल या पत्तियां बच जाएं, उन्हें किसी कागज पर चिपका कर तुम एक सुंदर सा ग्रीटिंग कार्ड भी बना सकते हो।

ऐसे सहेजो 
पौधों को सुखाने के बाद इनकी फाइल तैयार करना भी जरूरी काम है। इसके लिए तुम्हें कुछ खास बातों का ध्यान रखना होगा, जैसे-

  •   पौधे के खास फीचर्स को बाहर की ओर करके चिपकाओ  ताकि उन्हें आसानी से देखा जा सके।
  •   अगर पौधे का नमूना बड़ा है तो उसे ऊपर और नीचे के अलग हिस्सों में काट कर अगल-बगल के पन्नों पर चिपकाओ।
  •  एक छोटा पारदर्शी प्लास्टिक का लिफाफा दोनों पन्नों के पास चिपका कर उसमें पौधे के बीज भी रखे जा सकते हैं।
  •  पौधों की खासियतें लिखने के लिए पेन नहीं, पेंसिल का इस्तेमाल ठीक रहेगा। 

क्या करना होगा

  •  पौधे ढूंढ़ो। 
  •  अब इन्हेें कुछ देर तक ऐसी जगह रखो, जहां ये टूटें नहीं। 
  •   इन्हें किसी भारी किताब के बीच में पूरी तरह सूखने तक रख दो। पौधों को बेहतरीन तरीके से दबाने और सुखाने के  लिए किताबें और अखबार ही सही रहते हैं।
  •   इन्हें इस तरह से रखो कि इनका सबसे अच्छा हिस्सा सामने की तरफ हो। 
  •  कई पौधों में नमी बहुत ज्यादा होती है। ऐसे पौधे जिन कागजों के बीच दबे होते हैं, उन्हें कुछ-कुछ दिन बाद बदलना जरूरी होता है।
  • पौधों के सूख जाने के बाद उन्हें हरबेरियम फाइल के मोटे पेपर पर चिपका दो। 

तुम्हें चाहिए  

  •   एक छोटा पेपर काटने वाला चाकू
  •  कैंची
  •  खुरपी
  • कांटों से बचाने के लिए दस्ताने
  • पौधों को रखने के लिए प्लास्टिक या कपड़े का थैला या बड़ा प्लास्टिक का फोल्डर 
  • गोंद
  • नोटबुक
  • पेन
  • लेबल
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:garden in a file