DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीसी के प्रभार लेने से पहले ही छात्रों ने विवि को किया बंद

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के नये कुलपति डॉ. रवीन्द्र कुमार वर्मा रवि के प्रभार लेने से करीब दस मिनट पहले छात्रों ने विवि को बंद करा दिया। रिजल्ट में छेड़छाड़ सहित अन्य मुद्दों पर कार्रवाई की मांग को लेकर शुक्रवार को वरीय अधिकारी के अलावा कर्मचारियों को कार्यालय से बाहर करते हुए तालेबंदी कर दी। साफ कहा कि जबतक मांगों पर अमल नहीं होगा, तब तक विरोध-प्रदर्शन जारी रहेगा। वहीं कामकाज ठप होने से दूर-दराज से आये छात्र-छात्राओं को लौटना पड़ा। प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने कहा कि फेल छात्र को पास करने का मामला सामने आया था। विवि प्रशासन को मामले में कार्रवाई के लिए पूर्व में आवेदन दिया गया था। इसके पूरे कागजात भी विवि को सौंपे थे। इस मामले में जांच कमेटी बनी उसकी रिपोर्ट आज तक नहीं आई। जांच कमेटी पर भी छात्रों ने सवाल खड़े किये। जान-बूझकर मामले को दबाया जा रहा है। इसके अलावा बॉटनी विभागाध्यक्ष, कॉमर्स विभागाध्यक्ष व विकास अधिकारी पर भी कार्रवाई की मांग की है। प्रदर्शन व हंगामा के दौरान छात्रों ने कुलसचिव डॉ. रत्नेश मिश्रा, प्रॉक्टर डॉ. सतीश कुमार राय, परीक्षा नियंत्रक डॉ. रजनीश कुमार गुप्ता, कॉलेज निरीक्षक डॉ. सुनील कुमार को कार्यालय से बाहर कर दिया। बंद कराने वालों में रूपेश कुमार, कंचन कुमार, राघव कुमार मणि, विक्की, अविनाश झा, राजा, विक्रम यादव, गोविंद झा आदि शामिल थे।

एक ही दिन खुला विवि :

पिछली दस जनवरी से कॉलेज कर्मचारियों की हड़ताल विवि में चल रही थी। इसके कारण लगातार विवि का कामकाज ठप रहा। 22 दिन की बंदी के बाद एक फरवरी को कर्मचारियों ने हड़ताल वापस ली थी। इस दौरान दो फरवरी को एक ही दिन विवि खुल सका था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:University closed, Hungama