DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पिटाई के विरोध में 23 से छह विभाग के इंजीनियर करेंगे हड़ताल

सरैया के पैगम्बरपुर में हुई पिटाई के विरोध में इंजीनियरों ने हल्ला बोल दिया है। सुरक्षा की मांग को लेकर 23 फरवरी से छह विभाग के इंजीनियर काम नहीं करेंगे। इस दौरान वे हड़ताल पर रहेंगे। 28 फरवरी तक मांगें पूरी नहीं होने पर इंजीनियर एक मार्च से आंदोलन को तेज करेंगे। रविवार को अभियंत्रण सेवा समन्वय समिति की अघोरिया बाजार स्थित जल संसाधन विभाग के कार्यालय में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया।

इसमें पटना से आए अभियंत्रण सेवा समन्वय समिति के महासचिव कमलाकांत शर्मा ने कहा कि सरैया में चीफ इंजीनियर से चालक तक पर हमला किया गया। इससे यहां के इंजीनियर दहशत में हैं। बिहार अभियंत्रण सेवा संघ ई. सुरेश शर्मा ने कहा कि डीएम इंजीनियरों को दंडाधिकारी बना देते हैं। चुनाव को छोड़कर इंजीनियर किसी भी प्रशासनिक काम नहीं लगाया जाए। अवर अभियंता संघ के गजाधर प्रसाद ने कहा कि अब तो पानी सिर के ऊपर से निकल रहा है। आंदोलन से होने वाले नुकसान के लिए सरकार जिम्मेवार होगी।

समिति के संयोजक राम स्वार्थ साह ने कहा कि जेई सरिता को जिंदा जला दिया गया, लेकिन पुलिस सुस्त बनी रही। संघ की पहल पर पुलिस सक्रिय हुई और एफएसएल रिपोर्ट के साथ चार्जशीट भी दायर की। समिति के अध्यक्ष अशोक कुमार चौधरी ने कहा कि मांग पूरी होने तक आंदोलन जारी रहेगा। सचिव अंजनी कुमार ने कहा कि अपराधी प्रवृत्ति वाले ठेकेदारों पर कार्रवाई की जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:From 23 to protest the beating of six department engineer strike