DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शोध में खुलासा : असमय बालों का सफेद होना दिल की कमजोरी का संकेत

शोध में खुलासा : असमय बालों का सफेद होना दिल की कमजोरी का संकेत

उम्र से पहले ही बालों का सफेद होने लगना दिल के बीमार होने का संकेत हो सकता है। शोधकर्ताओं ने एक नए अध्ययन में पाया है कि जिन पुरुषों के बाल उम्र से पहले ही सफेद होने लगते हैं, उन्हें दिल की बीमारी की चपेट में आने का खतरा सामान्य पुरुषों के मुकाबले अधिक हो सकता है।

शोधकर्ताओं ने कहा, धमनियों की आंतरिक दीवारों पर वसा के जमाव और बालों के सफेद होने की जैविक प्रक्रिया में काफी समानताएं होती हैं। उम्र बढ़ने के साथ ही दोनों में बढ़ोतरी होती है। बिगड़ा हुआ डीएनए, दाहक तनाव, सूजन, हार्मोन संबंधी परिवर्तन और कार्यशील कोशिकाओं में उम्रदराजी के लक्षण जैसी चीजें इन प्रक्रियाओं में समान रूप से मौजूद रहती हैं।

उन्होंने कहा, धमनियों में सख्ती (आर्टरिओस्क्लेरोसिस) का एक चरण ऐसा होता है जिसमें धमनियों की आंतरिक दीवारों पर वसा जमने लगती है। इस चरण को एथेरोस्केलेरोसिस कहते हैं। इससे धमनियों में रक्त प्रवाह का मार्ग संकरा हो जाता है।   

मिस्र की काहिरा यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं सैकड़ों वयस्क लोगों का अध्ययन करने के बाद यह नतीजा निकाला है। इन सभी प्रतिभागियों की धमनियों की अंदरुनी स्थिति की सीटी कोरोनरी एंजियोग्राफी तकनीक के जरिये जांच की गई थी। ताकि यह पता लग सके कि इन्हें दिल की बीमारी तो नहीं है अथवा इनके दिल की प्रमुख रक्त वाहिनियों में कोई क्षतिग्रस्त तो नहीं हैं। 

स्वस्थ रहने का आसान तरीका : गर्मी के 3 माह में 4 जांचें 2 बार कराएं

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें बालों में सफेदी की मात्रा तय करेगी...

शोध में खुलासा : असमय बालों का सफेद होना दिल की कमजोरी का संकेत
शोध में खुलासा : असमय बालों का सफेद होना दिल की कमजोरी का संकेत

शोधकर्ताओं ने दिल की बीमारी (कोरोनरी आर्टरी डिजीज) और बालों में धूसरपन या सफेदी की मात्रा के आधार पर प्रतिभागियों को दो समूहों में बांटा। धूसर बालों की मात्रा के आधार पर उन्होंने बालों के सफेद होने के विभिन्न चरणों के लिए अंक तय किए। इसके अनुसार पूरी तरह काले बालों के लिए 1, सफेद से अधिक काले बालों के लिए 2, काले और सफेद बालों की बराबर मात्रा के लिए 3, काले से अधिक सफेद बालों के लिए 4 और पूरी तरह सफेद बालों के लिए 5 अंक तय किए।

हरेक प्रतिभागी का अंक दो स्वतंत्र पर्यवेक्षकों द्वारा निश्चित किया गया। उनके तनाव, मधुमेह, रक्तचाप, धूम्रपान और दिल की बीमारी का आनुवांशिक इतिहास जैसे दिल की बीमारी के पारंपरिक कारकों के आंकड़े भी एकत्र किए गए। तमाम आंकड़ों के विश्लेषण से पता चला कि जिन प्रतिभागियों के बाल ज्यादा सफेद हो रहे थे उनमें दिल की बीमारी का खतरा ज्यादा था। उम्र और दिल की बीमारी से जुड़े कारकों का इसमें अलग से कोई प्रभाव नहीं था।   

शोधकर्ता ईरीनी सैमुअल ने बताया, हमारे शोध से पता चला कि वास्तविक उम्र कम होने के बावजूद बालों में सफेदी व्यक्ति की बढ़ी हुई जैविक उम्र को बयान करती है। यह दिल की बीमारी की चेतावनी का संकेत हो सकता है। 

यह अध्ययन स्पेन के मालागा में 6 से 8 अप्रैल तक यूरोपियन एसोसिएशन ऑफ प्रिवेंटिव कार्डियोलॉजी (ईएपीसी) की सालाना कांग्रेस ‘यूरोप्रिवेंट 2017’ में प्रस्तुत किया गया।
आठ घंटे से ज्यादा नींद लेना खतरनाक, हो सकती हैं ये बीमारियां

शोध में खुलासा : असमय बालों का सफेद होना दिल की कमजोरी का संकेत
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:white hair sign of weakness of heart