DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

32 वर्ष बाद थाने से विदा हुई दुल्हन

32 वर्ष बाद थाने से विदा हुई दुल्हन

आज तक विवाहिता को प्रताड़ित करने का मामला ससुरालवालों पर लगता रहा है। लेकिन, सिमरिया थाने में एक ऐसा मामला आया जो मायकेवालों पर सवाल खड़ा करता है। पुडंरा गांव की एक बेटी को 32 वर्षों तक उसके पति से मिलने नहीं दिया गया। मायके में ही उसके भाई-भाभियों ने नौकरानी की तरह रखा।

15 जून को उसकी पिटाई कर भाई और भाभियों ने घर से निकाल दिया। इस संबंध में पीड़िता के पति अशोक पांडेय और सिमरिया पुडरा गांव की ग्राम विकास समिति की ओर थाने में एक मामला दर्ज कराया गया है। पुलिस ने आरोपी भाइयों कालीचरण पांडेय, महेंद्र पांडेय और सुरेंद्र पांडेय तथा उनकी पत्नियों पर मामला दर्ज कर लिया है। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद सभी फरार हैं।

सिमरिया थाना प्रभारी बीके सिंह ने ग्रामीणों की मौजूदगी में प्रभा का हाथ उसके पति अशोक पांडेय को सौंप दिया। थाना परिसर में मौजूद सभी लोग यह दृश्य देख भावुक हो गए। समाज और पुलिस ने दुल्हन प्रभा को उसके पति अशोक पांडेय को थाने से विदाई दी।

मायके वालों ने नहीं किया विदा
1983 में प्रभा की शादी सीमा गांव के अशोक पांडेय से हुई थी। शादी के बाद प्रभा के घरवालों ने उसे विदा ही नहीं किया। अशोक जब अपनी ससुराल आते तो उन्हें प्रभा से मिलने नहीं दिया जाता था। सोमवार को जब प्रभा के भाइयों ने उसे घर से निकाल दिया तो गांव के मनोज चंद्रा, सुखलाल साव, विनीता देवी, मुबारक अंसारी, हेमराज महतो, सतीश शर्मा, सुदामा पांडेय आदि ने अशोक को इसकी जानकारी दी। इसके बाद अशोक पत्नी को विदा कराने सिमरिया पहुंचे। ग्रामीणों की मौजूदगी में थाना प्रभारी ने प्रभा का हाथ एक बार फिर अशोक को सौंप दिया।

पीड़िता की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है। प्रभा को प्रताड़ित करने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
बीके सिंह, थाना प्रभारी सिमरिया

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:32 वर्ष बाद थाने से विदा हुई दुल्हन