DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जाने कैसे तरबूज रोक सकता है बच्चों में अस्थमा

जाने कैसे तरबूज रोक सकता है बच्चों में अस्थमा

आजकल बच्चों में भी अस्थमा की समस्या आम हो चली है। स्वस्थ जीवनशैली बच्चों से अस्थमा को दूर रख सकती है। लेकिन विशेषज्ञों ने एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर ऐसे फलों और सब्जियों की पहचान की है जो दूसरी चीजों के मुकाबले बच्चों को अस्थमा से बचाने में अधिक सहायक हो सकती हैं।

शोध से जगी उम्मीद
- शोधकर्ताओं ने पाया है कि इन एंटीऑक्सीडेंट और कुदरती चीजों से कुछ खास प्रतिक्रियाएं तेज हो जाती हैं जिनसे अस्थमा को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।
- ‘अस्थमा ऑस्ट्रेलिया’ के सीईओ मार्क ब्रूक ने कहा, हम यह जानना चाहते हैं कि ये पूरक आहार अस्थमा से दूर रखने में किस हद तक मददगार हो सकते हैं

तैलीय मछली
- अस्थमा के मरीजों के लिए तैलीय मछलियों का सेवन भी बहुत उपयोगी है
- इन मछलियों में मौजूद पोषक तत्व अस्थमा की उत्तेजना को रद्द कर देते हैं
- सालमन, सर्डाइन और मैकरेल ऐसी मछलियां हैं जो बच्चों को बचपन में अस्थमा से बचा सकती हैं।

लाइकोपीन
- कुदरती तौर पर पाया जाने वाला यह रसायन एक अहम एंटीऑक्सीडेंट है
- यह ठंड और फ्लू के प्रति प्रतिक्रिया करने में शरीर को सहयोग करता है
- यह टमाटर, तरबूज, मौसमी व चकोतरे में कुदरती तौर पर पाया जाता है

ये भी फायदेमंद

सन के बीज : उच्च मात्र में मैग्नेशियम के स्नेत हैं।
रोजमैरी : यह जड़ीबूटी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है।
कूटू : एलर्जीरोधी और मैग्नेशियम से भरपूर।
लहसुन : इसमें उत्तेजना पैदा करने वाले पदार्थों से राहत पहुंचाने वाले एंजाइम होते हैं।
हल्दी : अस्थमा के उपचार की दवाओं में काम आती है।
ब्रोकली : इसमें श्वसन मार्ग में सूजन को नियंत्रित करने वाले यौगिक होते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जाने कैसे तरबूज रोक सकता है बच्चों में अस्थमा