DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी राशन कॉर्ड में अमिताभ बच्चन के पिता का नाम धर्मेंद और मां का हेमामालिनी

फर्जी राशन कॉर्ड में अमिताभ बच्चन के पिता का नाम धर्मेंद और मां का हेमामालिनी

शोले फिल्म का गब्बर सिंह और अमिताभ बच्चन भगतपुर के नरेंद्रपुर गांव की चक्की का पीसा आटा खा रहे हैं। दोनों के परिवारों को कई वर्षों से सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान से राशन मिल रहा है। यह बात पढ़ने में अटपटी जरूर लग रही होगी लेकिन यह सौ आने सच है। दरअसल, राशन डीलर ने इन अभिनेताओं के नाम पर फर्जी राशन कार्ड जारी करा लिए और महीनों तक इनके हिस्से का राशन हड़प करता है। अफसर खामोश होकर तमाशा देखते रहे और किसी ने जांच करने की जहमत तक नहीं उठाई। ग्रामीणों ने शिकायत की अब हड़कंप मचा है। राशन की दुकान रद कर दी गई लेकिन अभी भी डीलर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

यह कारनामा किया है नरेंद्रपुर की प्रधान सुशीला देवी और उनके पति जय नारायण अरोरा ने। वर्तमान में तो सुशीला देवी राशन डीलर हैं लेकिन कई वर्षों तक उनके पति ही राशन डीलर रहे हैं। उन्होंने कई साल पहले अभिताभ बच्चन के नाम पर राशन कार्ड बनवाया था। इसमें अभिताभ बच्चन के पिता का नाम धर्मेंद्र दर्शाया और मां का हेमामालिनी।

वहीं गब्बर सिंह के राशन कार्ड में पिता के नाम की जगह कालिया और मां के कॉलम में बसंती लिखा है। इन परिवारों को मूलरूप से मुम्बई का बताया गया है। राशन कार्डों की लिस्ट में इन्हें नरेंद्रपुर में किरायेदार दिखाया गया है। नरेंद्रपुर गांव में रहने वाले हरपाल सिंह, चंद्रपाल सिंह, अतर सिंह, रामकुंवर सिंह और सुधीर ने जिला अधिकारी को दिए प्रार्थना पत्र में बताया है कि राशन डीलर ने तमाम लोगों के नाम पर फर्जी राशन कार्ड बनवा लिए हैं। जबकि गांव के कई परिवार ऐसे हैं। जिन्हें राशन कार्ड की जरुरत है। लेकिन उनके कार्ड आज तक नहीं बन पाए हैं।

अपने कार्ड में भी किया फर्जीवाड़ा
राशन डीलर के पति जय नारायण अरोरा ने अपने कार्ड में भी फर्जीवाड़ा किया है। जय नारायण अरोरा नरेंद्रपुर की बीपीएल राशन कार्ड लिस्ट में दुकानदार है जबकि जय अरोरा पुत्र नारायण निवासी विलाकूदान भवन स्वामी के रूप में दर्शाया है तथा यहां से भी एक राशन कार्ड जारी करा रहा है।

चौबीस वर्षों से राशन की दुकान पर कब्जा
नरेंद्रपुर गांव के लोगों ने बताया कि चालीस वर्षों से जय नारायण अरोरा और उनकी पत्नी ने सरकारी सत्ते गल्ले की दुकान पर कब्जा कर रखा है। इस  बार अफसरों से मामले की शिकायत की गई। लेकिन आज तक कोई अफसर कार्रवाई नहीं कर पाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फर्जी राशन कॉर्ड में अमिताभ बच्चन के पिता का नाम धर्मेंद और मां का हेमामालिनी