DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीसीईसीई रिजल्टः किराना दुकानदार की बेटी ने लहराया परचम, अंकित व पुरुषोत्तम टॉपर

बीसीईसीई रिजल्टः किराना दुकानदार की बेटी ने लहराया परचम, अंकित व पुरुषोत्तम टॉपर

बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा में कंकड़बाग किराना दुकानदार की बेटी प्रेरणा ने बिहार मेडिकल की परीक्षा में तीसरा स्थान लाकर अपने परिवार वालों का नाम रौशन कर दिया है। जबकि बीसीईसीई मेडिकल स्ट्रीम की परीक्षा में पूरे राज्यभर में सुपौल निवासी अंकित मिश्रा ने पहला स्थान प्राप्त किया है। वहीं इंजीनियरिंग स्ट्रीम में पूरे राज्यभर से पुरुषोत्तम अभिषेक को पहला स्थान मिला है।

प्रेरणा अपनी सफलता का श्रेय पापा विजय कुमार सिंह और मां किरण देवी को देती है। इसके अलावा गोल के निदेशक विपिन कुमार को देती है। प्रेरणा कहती है कि मुझे उम्मीद नहीं था कि टॉप थ्री में जगह बनाने में कामयाब रहूंगी। पर रिजल्ट से काफी खुश हूं। घर में उत्सव का माहौल है। उसने बताया कि अभी कई परीक्षाओं का रिजल्ट आना शेष है। एम्स, एआईपीएमटी का रिजल्ट आना है। जीपमर की परीक्षा देनी है। उसने बताया कि बिहार बोर्ड में 78 फीसदी अंक प्राप्त हुआ था। पहले ही चांस में रिजल्ट होने से काफी उत्साहित हूं।

बीसीईसीई मेडिकल स्ट्रीम की परीक्षा में पूरे राज्यभर में सुपौल निवासी अंकित मिश्रा ने 12 सौं की परीक्षा में 959 अंक लाकर बाजी मार ली है। वहीं विजय कुमार 925 अंक लाकर दूसरे स्थान पर रहा है। तीसरे स्थान पर प्रेरणा कुमारी रही है। इस छात्रा को 871 अंक मिला है। चौथे स्थान स्वधा रही हैं। इसे 867 अंक प्राप्त हुआ है। वहीं 841 अंक लाकर प्रियांशु पांचवां स्थान पर है।

वहीं इंजीनियरिंग स्ट्रीम में पूरे राज्यभर से पुरुषोत्तम अभिषेक को पहला स्थान मिला है। इसे 743 अंक मिला है। वहीं 693 अंक लाकर रचित राज दूसरे स्थान पर रहा है। तीसरा स्थान भानू महतो को 691 अंक, चौथे पर उनंत कुमार सिंह को 681 अंक और कुंदन कुमार 672 अंक लाकर पांचवें स्थान पर रहा है।

उम्मीद नहीं था बन जाउंगा टॉपर-अंकित
पटना। बिहार मेडिकल की परीक्षा में पहला स्थान प्राप्त करने वाले अंकित मिश्रा के घर में खुशी का माहौल है। अंकित अभी दिल्ली में है। अंकित बताता है कि बेहतर रिजल्ट की उम्मीद थी पर टॉपर बन जाउंगा ऐसा नहीं सोचा था। सबसे बड़ी बात कि अंकित को एक साथ कई मेडिकल कॉलेजों में सफलता मिली है।

सफदरगंज मेडिकल की परीक्षा में पूरे देशभर में 32वां रैंक प्राप्त किया है। बेटे के रिजल्ट से पिता और मां काफी उत्साहित हैं। पिता सदानंद मिश्रा और मां अनुराधा मिश्रा ने बताया कि बेटे ने पहले ही बार में सफलता प्राप्त किया है। अभी एआईपीएमटी का रिजल्ट आना शेष है। उसने 12वीं में 92.8 फीसदी प्राप्त किया था। बारहवीं की पढ़ाई उसने होली कान्वेंट सीनियर सेकेंड्री दिल्ली से की है।

बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद की ओर से शुक्रवार को मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों में नामांकन के लिए हुई मुख्य परीक्षा का रिजल्ट शुक्रवार को घोषित कर दिया गया। छात्र अपना रिजल्ट बीसीईसीई के वेबसाइट www.bceceonline.com व www.bceceboard.com पर देख सकते हैं।

परीक्षार्थी मेधाक्रम और काउंसेलिंग की तिथि की जानकारी 8 जून से वेबसाइट के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। छात्रों को काउंसेलिंग के बाद ही रैंक के आधार पर कॉलेज एलॉट किया जाएगा। राज्य के मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए रैंक लिस्ट के आधार पर दाखिला होगा।

राज्य में मेडिकल कॉलेजों में कुल 950 सीट  हैं। इसमें केन्द्रीय कोटा के तहत 15 फीसदी सीट अराक्षित हैं। इसी तरह से राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेजों में लगभग 2 हजार सीटें हैं। मुख्य परीक्षा में 18 हजार छात्र शामिल हुए थे। इसमें मेडिकल के लिए 1600 और इंजीनियरिंग के लिए 2500 परीक्षार्थियों का मेरिट लिस्ट जारी किया गया है। कुल 41 सौ रिजल्ट जारी किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीसीईसीई रिजल्टः किराना दुकानदार की बेटी ने लहराया परचम, अंकित व पुरुषोत्तम टॉपर