DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनिया की सबसे बड़ी मंडी में सजेगा अमरोहा का आम

दुनिया की सबसे बड़ी मंडी में सजेगा अमरोहा का आम

यह सूफी संतों की नगरी का फल ही है या फिर कुदरत की मेहरबानी। न कोई सरकारी सहूलियत और न ही कोई संसाधन, इतने पर भी अमरोहा की जमीं पर पैदा होने वाला फलों का राजा आम साल दर साल बुलंदियों की इबारत लिख रहा है। अब अमरोहवी आम ने अपने स्वाद के बलबूते सऊदी अरब में दुनिया की सबसे बड़ी मंडी का ध्यान अपनी ओर खींचा है। विदेशी कारोबारियों ने आंकड़ा तो नहीं खोला, लेकिन एक्सपोर्टर से आम की मांग की है।

लंगड़ा, चौसा, दशहरी, आम्रपाली, हुस्नआरा, फजली, मल्लिका, रैटोल समेत साढ़े 400 किस्म के आम जिले की जमीन पर पैदा होते हैं। हर प्रजाति के आम के स्वाद का अपना अलग आनंद है, लेकिन विशेष रूप से लंगड़ा, चौसा व दशहरी का अपना अलग मुकाम है। मौजूदा समय में जापान, स्पेन, दुबई, सिंगापुर, मलेशिया समेत 17 देशों में हर साल कई सौ टन अमरोहा का आम नबाव ब्रांड के नाम से भेजा जा रहा है।

दुबई के बाशिंदों को लंगड़ा व चौसा प्रजाति का आम सबसे ज्यादा पसंद है। सुर्खाब, आम्रपाली, मकसूस सहित 10 किस्मों के आम का स्वाद वर्ष 2014 में पहली बार दुबई के लोगों ने चखा तो झूम उठे थे। इसी तरह सऊदी अरब के नागरिकों ने भी बीते साल अमरोहा का आम खाया था।

इसका परिणाम यह है कि अमरोहवी आम के स्वाद का जादू इस कदर सिर चढ़कर बोना, सऊदी अरब की आम मंड़ी का ध्यान अपनी ओर खींच लिया है। करीब 15 जून तक आम पककर बाजारों तक पहुंचेगा, लेकिन 15 दिन पहले ही मंड़ी के बड़े कारोबारियों ने जिले के एक एक्सपोर्टर से लंगड़ा, चौसा, दशहरी की विशेष रूप से डिमांड की गई है। उसी के अनुरूप उन्होंने तैयारियां भी शुरू कर दी हैं।

बता दें कि इस बार मौसम की बेरुखी के कारण अल्फांजों आम का उत्पादन काफी हद तक प्रभावित हुआ है। ऐसे में अमरोहवी आम की डिमांड अधिक रहने की उम्मीद भी जताई गई है।

उप्र मैगो एक्सपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष नदीम सिद्दीकी ने बताया कि सऊदी अरब में आम की दुनिया की सबसे बड़ी मंडी स्थित है। मंडी से अमरोहवी आम की डिमांड की गई है। उसी के अनुरूप आम भेजने की तैयारी की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:amroha mango in saudi arabia