DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान के पार्कों में भी भारत जैसा ही है नजारा

पाकिस्तान के पार्कों में भी भारत जैसा ही है नजारा

पाकिस्तान के इस्लामाबाद और लाहौर के पार्कों में आजकल भारत जैसा ही नजारा है। यहां के लोग सुबह-सुबह योग करते दिख जाते हैं। पाक के पंजाब सूबे के एक छोटे से गांव के युवक शमशाद हैदर को इसका श्रेय जाता है।

हैदर ने भारत, नेपाल और तिब्बत से योग सीखा और अब पाकिस्तान में इसका प्रचार कर रहे हैं। हैदर महाराष्ट्र के गुरु निकम और गुरु गोयनका से प्रभावित हैं। उन्होंने लंबा समय हरिद्वार में भी बिताया है। सात साल पहले लाहौर के एक मनोचिकित्सक उनके पहले शिष्य बने। अब यह संख्या हजारों में पहुंच चुकी है।

योगी हैदर के मुताबिक योग के प्रसार के लिए वह पब्लिक पार्कों में मुफ्त कक्षाएं चलाते हैं, लेकिन जो लोग व्यक्तिगत कक्षाएं लेते हैं, वे फीस चुकाते हैं। हैदर का सपना योग को अपने देश के हर घर तक पहुंचाना है।

दोस्त के योग सेंटर में लगा दी आग
योगी हैदर मानते हैं कि पाकिस्तान जैसे देश में योग सिखाना एक मुश्किल काम है। पिछले साल उनके दोस्त के योग सेंटर में आग लगा दी गई थी। पर वे इससे डरे नहीं। योग को सबके बीच स्वीकार्य बनाने के लिए वे योग को इसके फायदे तक ही केंद्रित रखते हैं और इसे किसी खास धार्मिक पहचान से दूर रखते हैं।

पत्नी भी योग शिक्षिका
उनकी पत्नी शुमैला सांस की मरीज थीं और उन्हीं की योग कक्षाओं में आती थीं। ठीक होने पर दो साल पहले उन्होंने योगी हैदर से शादी कर ली। अब वे भी योग सिखाती हैं।

पाकिस्तान में हुआ था गुरु पतंजलि का जन्म
हैदर याद दिलाते हैं कि योग के पुरातन गुरु पतंजलि का जन्म मुल्तान में हुआ था, जो अब पाकिस्तान में है।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pakistan Baba Ramdev Shamshad Haider Says Yoga Began In Pakistan