DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कानपुर रेल हादसे की जांच को फिर छौड़ादानो पहुंची एनआईए की टीम

घोड़ासहन रेल ट्रैक बम प्लांट व कानपुर रेल हादसा मामले में एनआईए की टीम शुक्रवार को एक बार फिर छौड़ादानो पहुंची। छौड़ादानो के भेलवा निवासी अमजद अंसारी से टीम के सदस्यों ने दो घंटे तक कड़ी पूछताछ की। एनआईए की जांच में अमजद के मोबाइल फोन से नेपाल में पकड़े गए गिरोह के सरगना शमसुल होदा व ब्रजकिशोर गिरि के मोबाइल पर कई बार बातचीत होने के प्रमाण मिले हैं।

बताते हैं कि अमजद की खोज में एनआईए की टीम 28 मार्च को भी छौड़ादानो पहुंची थी, मगर तब वह घर पर नहीं मिला था। एनआईए टीम के सदस्य परिजनों को अमजद के घर आने पर टीम को सूचना देने की बात कह चले गए थे। गुरुवार रात जब अमजद घर पहुंचा तो परिजनों ने इसकी सूचना एनआईए को दी। एनआईए टीम ने शुक्रवार को करीब दो घंटे पूछताछ में उसके शमसुल होदा व ब्रजकिशोर गिरि से संबंधों व घटना में उसके संलिप्तता की जांच की।

मालूम हो कि 1 अक्टूबर 2016 को घोड़ासहन के पास आईईडी बम प्लांट किया गया था। आसपास के गांवों के युवकों की नजर पड़ बम पर पड़ी और पुलिस ने समय रहते हादसे को टाल दिया था। बाद में आदापुर थाने में दर्ज दोहरे हत्याकांड में गिरफ्तार मोतीलाल पासवान, मुकेश यादव व उमाशंकर पटेल ने आईएसआई के इशारे पर घोड़ासहन में ट्रैक पर बम प्लांट व कानपुर रेल हादसे में संलिप्त होने की बात कह जांच एजेंसियों को सकते में डाल दिया। तभी से एनआईए की टीम सीमावर्ती इलाके में लगातार छापेमारी कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NIA team again reaches Chauradano