DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएम के साथ मोर्चा की हुई बैठक रही बेनतीजा

नेपाल में निकाय चुनाव निकट आने के साथ मधेसी मोर्चा के विरोध के कारण सरकार की बेचैनी बढ़ती जा रही है। चीन यात्रा से नेपाल वापसी के साथ ही प्रधानमंत्री पुष्पकमल दहाल उर्फ प्रचण्ड ने मोर्चा के शीर्ष नेताओं को चुनाव में शामिल कराने के मान मनौव्वल प्रारंभ कर दिया है।

शुक्रवार को वीरगंज में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में प्रधानमंत्री ने सीमांकन के मुद्दे को छोड़कर शेष जनसंख्या के आधार पर निर्वाचन क्षेत्र का निर्धारण, सभी विभागों में समान प्रतिनिधित्व , नागरिकता भाषा सहित सभी मांगों को संविधान संशोधन विधेयक के माध्यम से पूरा कराने के लिए सरकार द्वारा होमवर्क जारी रहने की बात कही। साथ ही जल्द ही उक्त मांग को पूरा करने की प्रतिबद्धता भी जतायी। इसके साथ ही मोर्चा को निकाय चुनाव में शामिल होने का आग्रह किया ।

इसे मोर्चा ने अस्वीकार करते हुए कहा कि जबतक सीमांकन.सहित सभी मांग को पूरा नहीं किया जाता तबतक मोर्चा न चुनाव में शामिल होगा और न चुनाव होने देगा। मोर्चा में आबद्ध सद्भावना पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेन्द्र महतो ने बताया कि सरकार और तीन दलों को यदि मधेशियों को समान अधिकार देने की मंशा होती तो अबतक मांग पूरा हो गया होता। मगर इनका नीयत साफ नहीं है और अब मांग पूरा करने का झूठा झांसा देकर सरकार चुनाव कराना चाहती है । यदि सरकार सेना लगाकर चुनाव कराने का प्रयास किया तो मधेश सहित पुरे नेपाल में काफी रक्तपात होगा ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Beniteja meeting held with PM