DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सपाइयों की गुंडई, हुड़दंगियों को छुड़ाया

सपा छात्र नेताओं के सामने सिविल लाइन पुलिस नतमस्तक हो गई। शंकर आश्रम के पास बाइक पर हुड़दंग मचा रहे चार छात्रों को महिला थाना प्रभारी ने खुद पकड़कर सिविल लाइन पुलिस को सौंपा। थाने से उन्हें सपा छात्र नेता छुड़ा ले गए। पुलिस ने लीपापोती करते हुए बाइक का एमवी एक्ट में चालान काटकर इतिश्री कर ली।

शुक्रवार को एक बाइक पर सवार चार छात्र एनएएस कॉलेज की तरफ से मेघदूत चौपला की तरफ जा रहे थे। पीछे बैठे दो छात्र हुड़दंग और हो-हल्ला कर रहे थे। ब्रह्मपुरी थाने से जीप से लौट रहीं महिला थाना प्रभारी बबीता तोमर ने शंकर आश्रम के पास चारों को रोक लिया। इस पर चारों ने एसओ से अभद्रता कर दी। एसओ ने चारों छात्रों की तलाशी ली, मगर उनसे कुछ आपत्तिजनक वस्तु बरामद नहीं हुई। इसी बीच एनएएस कॉलेज से सपा छात्र नेताओं की झंडा लगी गाड़ी पहुंच गई। गाड़ी से चार-पांच छात्र नेता उतरे। उन्होंने सत्ता का रौब दिखाते हुए चारों छात्रों को छुड़ाने की कोशिश की।

मामला बढ़ता देख एसओ ने चारों छात्रों को अपनी जीप से सिविल लाइन थाने पर भेज दिया। जबकि उनकी बाइक बबीता तोमर खुद चलाकर थाने पर पहुंचीं। चारों आरोपियों और उनकी बाइक को सिविल लाइन पुलिस के सुपुर्द करके एसओ बबीता तोमर लौट गईं। सपा छात्र नेताओं ने दबाव बनाते हुए सिविल लाइन थाने से चारों छात्रों को छुड़ा लिया और अपनी गाड़ी में बैठाकर ले गए।

100 नंबर नहीं आया काम

शंकर आश्रम सिविल लाइन थाना क्षेत्र में आता है। चूंकि महिला एसओ बबीता तोमर जीप में अकेली थी, इसलिए उन्होंने चारों छात्रों को संबंधित थाना पुलिस के सुपुर्द करने के लिए 100 नंबर डायल किया। सूचना देने के बावजूद थाना पुलिस मौके पर नहीं आई। जिसके बाद बबीता तोमर ने चारों को अपनी जीप से थाने पर भिजवाया जबकि उनकी बाइक को खुद चलाकर ले गईं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Vandalizing of Spaiyon, hordes disrupt delivered