DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीसरे दिन देवी मंदिरों में पूजी गयी मां कुष्मांडा

तीसरे दिन देवी मंदिरों में पूजी गयी मां कुष्मांडा

शक्ति की आराधना, साधना और उपासना का महापर्व वासंतिक नवरात्र के तीसरे दिन शुक्रवार को रंग और गाढ़ा हो गया, साधकों ने मां के चौथे स्वरूप कुष्मांडा देवी का दर्शन पूजन किया। हर घर में दुर्गा सप्तशती के ओजस्वी मंत्रों की ध्वनि से दसों दिशाएं गुंजित हो चली हैं। देवी मंदिरों में मां के भक्तों की भीड़ उमड़ी तो जयकारे का उद्घोष गगनचुम्बी होता चला गया। मंदिरों के आस पास सजी प्रसादों की दुकानें भी इस वातावरण के प्राणतत्व को और सघन बनाती दृष्टिगोचर हो रही हैं।

नगर क्षेत्र के मां शीतला माता धाम, आजमगढ़ मोड़ स्थित मां सिद्धेश्वरी दुर्गा मंदिर, फातिमा चौराहा स्थित मां दुर्गा मंदिर, मां वनदेवी धाम, ब्रह्मस्थान देवी मंदिर, कोरौली स्थित दुर्गा मंदिर, शारदा माता मंदिर, मां कोयल मर्याद भवानी मंदिर, डग्दुअरिया देवी मंदिर आदि स्थानों पर रविवार की सुबह से ही मां के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। स्त्री पुरुष, वृद्ध सभी भक्तजन मां के दरबार में दर्शन पून को लम्बी कतारों में लगकर अपनी बारी का इंताजर करते रहे। मां को नारियल, चुनरी समेत अन्य प्रसाद चढ़ाकर कल्याण की कामना की। वहीं भक्तों द्वारा देवी के लगाये जा रहे जयकारों से पूरा मंदिर समेत पूरा वायुमंडल गूंज उठा। उधर घरों में स्थापित कलश के पास श्रद्धालुओं द्वारा स्वयं या वेदपाठी ब्राह्मणों द्वारा दुर्गा सप्तशती का पाठ अनवरत जारी रहा। इसी क्रम में शाम के समय मंदिरों में मां की आरती के कार्यक्रम हुए तो घरों से भी मां की भक्ति के गीत, पचरा आदि की स्वरलहरिया सुनायी देती रहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: On the third day, worship of Kushmanda Devi in ​​the Goddess temples