DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रमिकों को हक दिलाने का उत्सव है मजदूर दिवस

मई दिवस दुनिया के मजदूरों के लिए स्वाभिमान दिवस है। मजदूरोंे को स्वाभिमान व हक दिलाने में लाखों लोगों ने बलिदान दे दिया। तब जाकर मजदूरों को 18 के बदले आठ घंटा काम करने का अधिकार, न्यूनतम मजदूरी सहित अन्य सुविधाएं मिली। ये बातें मिथिला भवन में विश्वकर्मा काष्ठ शिल्पी संघ सहित अन्य संगठनों की ओर से मजदूर दिवस के अवसर पर आयोजित संकल्प सभा को संबोधित करते हुए संगठन के अध्यक्ष रामचन्द्र शर्मा ने कही।

सभा में अरविंद प्रसाद ने मजदूर दिवस व लाल झंडा के इतिहास से लोगों को अवगत कराया। वहीं सुनील नायक ने संगठन से जुड़े सदस्यों से श्रम कानून को लागू करने के लिए जोरदार आंदोलन करने का आह्वान किया। सभा में लालबहादुर सिंह, पवन पासवान, धरनीधर लाल दास, विजय कुमार शर्मा, पूनम देवी ने भी संबोधित किया। दूसरी ओर ऑल इण्डिया फूड इम्पलाईज वर्कर्स यूनियन की ओर से रहिका प्रखंड परिसर में मजदूर दिवस के अवसर पर श्याम पासवान की अध्यक्षता में सभा कर हक के लिए आवाज बुलंद करने की अपील की गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Labor Day is a celebration of entitlement to workers