DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एल्गिन बांध की आड़ में करोड़ों खा गई सपा सरकार : धर्मपाल

बांध की आड़ में करोड़ों खा गई सपा सरकार : धर्मपाल

मंत्री का दौरा

कैबिनेट मंत्री ने किया एल्गिन-चरसड़ी बांध का निरीक्षण

स्टीमर से गोण्डा-बाराबंकी-बहराइच सीमा तक नदी में घूमे मंत्री

फोटो---11कैप्शन- सिंचाई मंत्री के लिए प्रशासन की ओर से नकहरा गांव से लेकर बांध तक बिछाया गया ग्रीन-रेड कारपेट रहा चर्चा का विषय

करनैलगंज(गोण्डा)। हिन्दुस्तान संवाद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर शुक्रवार को यहां एल्गिन चरसड़ी बांध का निरीक्षण करने कैबिनेट सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह पहुंचे। मंत्री ने आरोप लगाया कि बंधे के निर्माण और मरम्मत के नाम पर पूर्ववर्ती सपा सरकार करोड़ों रुपये डकार गयी। उन्होंने कहा कि बंधे का निर्माण ही गलत जगह हुआ है जिससे हर साल बारिश में बांध कट जाता है। सिंचाई मंत्री ने कहा कि सरकार इस घोटाले की जांच कराएगी और जो भी दोषी होगा, उसे दंडित किया जायेगा।

सिंचाई मंत्री ने कहा कि वे अपनी जांच रिपोर्ट सीधे मुख्यमंत्री को सौपेंगे। उन्होंने कहा कि बांध निर्माण और मरम्मत में पानी की तरह पैसा बहाया गया। इस घोटाले में संबंधित सरकार के साथ ही तत्कालीन अधिकारियों की भूमिका की भी जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि अब तक जो रिपोर्ट उन्हें मिली है। उससे पता चलता है कि बांध मरम्मत के नाम पर सौ करोड़ प्रतिवर्ष खर्च किया गया। यह पूरी तरह से शासकीय धन के दुरुपयोग और गबन का मामला है।

मंत्री ने कहा कि अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि बाढ़ से बचाव के लिए अभी से बचाव और राहत के उपाय शुरू कर दिये जायें। बांध के निरीक्षण में सिंचाई मंत्री के साथ बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री अनुपमा जायसवाल और सांसद प्रियंका रावत भी शामिल रहीं।

इनसेट----

ग्रामीणों ने किया नये बांध का विरोध :

ग्रामीणों ने नये बांध का विरोध करते हुए पुराने बांध को ही ठीक कराने की मांग की। मंत्री के आने से पहले जब आसपास के ग्रामीण एकत्र हुये तो प्रशासन की सांसें फूल गयीं। प्रशासन ने किसी तरह लोगों को समझा-बुझा कर शांत किया। दरअसल पिछले साल सपा सरकार में करोड़ों की लागत से 1100 मीटर का एक नया बंधा बनाया गया था, जो बाढ़ में बह गया। अब अफसर पांच किमी का एक नया बंधा बनाना चाहते हैं। ग्रामीणों की मांग है कि पुराने बंधे की ही सरकार मरम्मत कराये।

इनसेट----

ग्रीन कारपेट रहा चर्चा का विषय

मंत्री के दौरे को लेकर नकहरा गांव से लेकर बंधे तक अफसरों ने ग्रीन कारपेट बिछाया था। करीब 500 मीटर तक बिछाया गया यह ग्रीन-रेड कारपेट ग्रामीणों के बीच चर्चा का विषय बना रहा। लोग कह रहे थे कि पहले भी सरकार के मंत्री बांध के निरीक्षण के लिए आते रहे हैं, लेकिन कभी किसी मंत्री के लिए ग्रीन-रेड कारपेट नहीं बिछाया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The SP government spends billions of rupees in the garb of making Algine dam: Dharampal