gujrat pilgreems looted - गुजरात यात्रियों से की ठगी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुजरात यात्रियों से की ठगी

बीते दो माह से रूपईडीहा नेपालगंज होकर हजारों की संख्या मे कैलाश मानसरोवर की यात्रा करने तीर्थ यात्री गये। बुधवार को कस्बे में 6 लोगों का ग्रुप लौट कर आया तो इसने अपने साथ हुई लूट की घटनाओं का वर्णन किया।

सूरत गुजरात के निवासी संजय पटेल, प्रहलाद एस रावल, पुरूषोत्तम, निमिषा पटेल, जय पटेल व सचिन पटेल ने बताया कि सूरत की ट्रेवलिंग एजेंसी फिश्टेल ने हम लोगों से प्रति व्यक्ति 01 लाख 60 हजार रूपए का पैकेज वसूल किया। इसके बाद हम लोगों का प्रति व्यक्ति 40 हजार रूपया अतिरिक्त खर्च कर दिया। इन लोगों ने बताया कि फिश्टेल कम्पनी ने हमें काठमांडू की शनि ट्रेवेल्स को सौंप दिया। शनि ट्रेवेल्स ने हमें काक्स एण्ड किंग कम्पनी को सौंप दिया।

बताया कि काठमांडू से हम लोगों को हिल्सा पहुंचाया गया। हिल्सा से सिमिकोट भेजा गया। वहां हमें रुकने का हर जगह पैसा देना पड़ा। खाने-पीने की कोई व्यवस्था नहीं थी। किसी प्रकार कैलाश मानसरोवर की परिक्रमा कर हम लोग वापस हिल्सा लौट आये। हिल्सा से हमें हेलीकाप्टर द्वारा सुर्खेत आना था। काफी मिन्नतें करने के बाद व दस हजार रुपया प्रति व्यक्ति हेलीकाप्टर वाले को देने के बाद हम सुर्खेत पहुंचे। सुर्खेत से गाड़ी द्वारा नेपालगंज आये।

नेपालगंज के सिद्धार्थ होटल में हम लोग रूके। होटल वाले ने रहने व खाने का पैसा मांगा। हम लोगों ने कहा कि ट्रैवेलिंग एजेंसी में हमने कुल धन जमा कर दिया है। यहां भी हमारे साथ चीटिंग की गयी। यहां विष्णु नामक एजेंट ने हमारे साथ बदसुलूकी की। किसी प्रकार हम लोग रूपईडीहा आये। अब गुजरात जा रहे हैं। पीड़ितों ने इस संबंध में सरकार से कार्रवाई की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:gujrat pilgreems looted