DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देररात तक हुई कविताओं की बौछार

हाथरस। मेला श्री दाऊजी महाराज के प्रांगण में स्थित कुशवाहा क्षत्रिय शिविर में कवि सम्मेलन का आयोजन बड़े ही जोर शोर से किया गया। सोमवार रात दो बजे तक चले इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कवि नरेन्द्र निर्मल ने की तथा संचालन श्यामबाबू चिंतन ने किया।

सम्मेलन का शुभारम्भ ओज कवि मंगल पाण्डे द्वारा प्रस्तुत सरस्वती वंदना से किया गया। सम्मेलन के संयोजक समाजसेवी भाजपा नेता थान सिंह कुशवाहा, रामजीलाल ढलाई वालों व हनीष पहलवान द्वारा जनपद के अलावा दूर दराज से पधारे कविगणों का स्वागतम सम्मान किया गया।

कार्यक्रम में उपस्थित इन वाणी पुत्रों ने हास्य रस, वीर रस एवं धार्मिक रचनाओं तथा ओज की रचनाओं से पण्डाल में बैठे जन समूह को मंत्रमुग्ध कर दिया। कार्यक्रम में उपस्थित आशु कवि अनिल बौहरे, बाबा देवी सिंह निडर, इग्लास से आए गाफिल स्वामी, नूर मोहम्मद नूर, गणपतिगणेश, हनीफ संदली, आचार्य भगवान सिंह, प्रदीप पण्डित, महेश पागल, रूबिया खान, डा. कयूम खान, सर उजाला, वीरेन्द्र जैन, राकेश धूंआधार, राकेश रसिक, राम भजन लाल, श्याम बाबूचिंतन एवं नरेन्द्र निर्मल आदि लोग उपस्थित थे।

इससे पहले बंादा से पधारे ब्रजेन्द्र कुमार कुशवाहा व नारायण सिंह कुशवाहा द्वारा फीता काटकर व दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रमा का शुभारम्भ किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भाजपा नेता प्रेम सिंह कुशवाहा थे। विशिष्ट अतिथि के रूप में संघ अध्यक्ष लाल बहादुर थे।

शिविर में दो दर्जन से अधिक कवियों के अलावा धरोहर पत्रिका के सम्पादक रामस्वरुप वर्मा, कबाड़ी बाबा, गेंदा लाल आर्य, लाल बहादुर कुशवाहा, केपी सिंह, रामू कुशवाहा, वीरबहादुर कुशवाहा, हरी किशन कुशवाहा, रामजी लाल ढलाई वाले, योगेश कुमार कुशवाहा, संतोष कुशवाहा, ताराचन्द्र कुशवाहा, विजेन्द्र कुशवाहा, दिनेश कुशवाहा, राजकुमार कुशवाहा, दानसहाय कुशवाहा, चन्द्र प्रभा सिंह, सुधा कुशवाहा एडवोकेट,पूजा कुशवाहा, नन्दलाल निरंकारी, तिलक सिंह आर्य, राधा रमनएसटीडी वाले, दिनेश दीक्षित, हरिओम कुशवाहा आदि लोग उपस्थितथे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:देररात तक हुई कविताओं की बौछार