DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुक्त विश्वविद्यालय को मिलेगी यूजीसी की मान्यता

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय को मान्यता देने के लिए कमेटी गठित कर दी है। यूजीसी की मान्यता मिलने से ओपेन युनिवर्सिटी को विकास कार्यो के लिए नियमित ग्रांट मिलने का रास्ता खुल जाएगा। इस आशय की जानकारी यूजीसी से मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. नागेश्वर राव के पास भेजी गई है।

यूजीसी की टीम बहुत जल्द विश्वविद्यालय का दौरा करने के लिए आएगी। 12 (बी) के तहत मान्यता मिलने के बाद मुक्त विश्वविद्यालय विकास एवं शोध कार्यो के लिए यूजीसी से नियमित अनुदान मिलने लगेगा। राज्य इस इकलौते मुक्त विश्वविद्यालय को वर्तमान में प्रदेश सरकार और दूरस्थ शिक्षा परिषद (डैक) से वित्तीय सहायता मिलती है। यूजीसी 12 (बी) के तहत उसी विश्वविद्यालय को मान्यता देता है, जिसके पास 15 एकड़ जमीन के साथ ही 20 स्थायी शिक्षक तथा 50 या इससे अधिक अध्ययन केंद्र हों। फाफामऊ स्थित परिसर में स्थानांतरण के बाद मुक्त विश्वविद्यालय ने ये सभी अर्हताएं पूरी कर ली हैं। इसी के बाद कुलपति प्रो. राव ने यूजीसी को मान्यता के लिए पत्र भेजा था।


कुलपति प्रो. राव का कहना है कि 12 (बी) की मान्यता के लिए यूजीसी की कमेटी गठित होने का पत्र उनके पास आ चुका है। यह बड़ी कामयाबी है क्योंकि यूजीसी से मिलने वाली वित्तीय सहायता से विश्वविद्यालय का विकास और तेजी के साथ तो होगा ही, शोध एवं शैक्षिक कार्यो में और भी प्रगति आएगी। गौरतलब है कि पिछले वर्ष यूजीसी, डैक तथा अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद की संयुक्त टीम ने विश्वविद्यालय का दौरा कर यहां के पाठ्यक्रमों को मान्यता प्रदान की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुक्त विश्वविद्यालय को मिलेगी यूजीसी की मान्यता