DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक रोल ने बदल दी लाइफ: अरुण गोविल

एक रोल ने बदल दी लाइफ: अरुण गोविल

दो दिन बाद रामनवमी है। राम शाश्वत चेतना हैं, मर्यादा और शील के प्रतीक हैं। लोग भले ही लाख कहें कि राम को कौन पूछता है लेकिन पूरब से पश्चिम और उत्तर से दक्षिण तक यदि लोग राम को मर्यादा पुरुषोत्तम मानते हैं, तो मानना होगा कि उनके भीतर कुछ न कुछ बात तो है। कहते हैं कि राम का नाम लिखने से भारी पत्थर भी पानी में तैर जाता है। स्मरण मात्र से पाप नष्ट हो जाते हैं। कहते तो यह भी हैं कि मरा-मरा जपने वाले को भी राम मिल गए। शायद आप इन बातों पर यकीन न करें। इसीलिए हम आपको एक ऐसे शख्स से रूबरू करा रहे हैं जिसने राम का किरदार निभाया और इतने भर से उसकी लाइफ बदल गई।

मैं इन दिनों लक्ष्मीनारायण धाम के अध्यक्ष के तौर पर काम कर रहा हूं। इसके सरंक्षक ब्रह्मऋषि श्रीकुमार स्वामी के बीज मंत्र मनुष्य की चिंता ओर बीमारी को दूर भगाने में काफी सहायक हुए हैं। मैंने भी इस बीज मंत्र को आत्मसात करने का प्रयास किया है। मेरे अभिनेता मन के लिए यह एक अलग तरह का आध्यात्मिक अनुभव है। सच कहूं ,तो मैं इतना आध्यात्मिक कभी नहीं था। मगर, रामायण में राम का रोल करने के बाद मेरी दुनिया काफी बदली है। थोड़ी अनियमित जीवनशैली के बावजूद इस धारावाहिक के बाद मैंने अपने अंदर काफी बदलाव महसूस किया। आज ‘रामायण’ को आये लगभग 28 साल हो चुके हैं। पर उस दौरान मेरे अंदर आई सत्विक भावना बदस्तूर कायम है। मेरा जन्म मेरठ के पास रामनगर नामक स्थान में हुआ। मतलब शुरू से ही राम शब्द मेरे साथ जुड़ गया। मां मुझे जबरदस्ती रामलीला देखने के लिए भेजती थी। पहली बार तब मैं राम की महिमा से वाकिफ हुआ। अरसे बाद समय ने रफ्तार पकड़ी, तो फिर रामानंद सागर के रामायण में मुझे राम का किरदार करने का मौका मिला। सागर जी के रामायण के बारे में नए सिरे से बताने की कुछ जरूरत नहीं है। इसकी लोकप्रियता ने टीवी दर्शकों को भक्ति रस में डुबोया। हम सभी की दैनिक जीवन शैली में भी इसकी वजह से बड़ा फर्क आया है।

मांसाहारी भोजन और मदिरा के प्रति मेरा कभी लगाव नहीं रहा। लेकिन इस सीरियल की शूटिंग के दौरान धीरे-धीरे मेरा जीवन पूरी तरह से सात्विक हो गया। सागर साहब ने हमसे कभी यह नहीं कहा था कि हम अपने खाने-पीने के शौक को छोड़ दें। बस, उनका एक ही निर्देश था, शूटिंग के समय एकदम सात्विक भोजन और स्वस्थ आचार-विचार। मैं औरों की बात नहीं जानता, पर सागर साहब का वह आत्मीय आदेश मैं आज भी महसूस करता हूं।

उन दिनों हालत यह थी कि कोई न कोई रामभक्त सेट पर मुझसे आशीर्वाद लेने चला आता था। कई बार इस वजह से मैं अपने आपको बहुत लज्जित महसूस करता था, क्योंकि इनमें कई लोग मुझसे दोगुनी उम्र के थे। बाद में मुझे भी इस बात का यकीन हो गया कि हम सब जिस श्रद्घा और भक्ति से इसके साथ जुडे हुए हैं, यह उसी का प्रतिफल है। सच कहूं ,तो तब मुझे भी ऐसा लगने लगा था कि मेरे अंदर राम की शक्ति समा गई है। वरना किसी भी व्यक्ति को आशीर्वाद देने का साहस मैं हरगिज नहीं करता। इस सीरियल के खत्म होने के बाद भी कई महीनों तक लोग मुझे राम का अवतार समझकर मेरा आशीर्वाद
लेते थे और मैं उनके लिए सच्चे मन से भगवान राम से प्रार्थना करता था।

असल में राम के किरदार को पूरी तरह से आत्मसात करने में मेरी फिल्मी इमेज बहुत काम आई। मैं ज्यादातर राजश्रीवालों की पारिवारिक फिल्मों में काम करता था, जिनमें जीवन मूल्यों को अनदेखा नहीं किया जाता है। भगवान राम भी ऐसे हैं। इसलिए मुझ जैसा व्यक्ति जब इस तरह के रोल करता है, तो उसमें बदलाव आना लाजिमी है। आज मैं अपने गुरु ब्रह्मऋषि श्रीकुमार स्वामी के संपर्क में रह कर अध्यात्म से संबंधित कायरे में ज्यादा संबद्ध रहता हूं। जीविका के लिए मैंने ‘रामायण’ में लक्ष्मण का रोल करने वाले सुनील लाहिड़ी के साथ मिलकर एक टीवी कंपनी खोली है। हमने एक कॉमेडी सीरियल ‘हैप्पी होम’ बनाया, यह वरिष्ठ नागरिकों पर केंद्रित था। अपने दूसरे सीरियल ‘मशाल’ में हमने आजादी के मतवालों की कहानी बयां की है। दोनों ही सीरियल खूब पसंद किये गये। इनमें किसी भी तरह का सस्तापन नहीं था। मुझसे शायद ऐसा कभी संभव नहीं होगा। मैं एकदम आध्यात्मिक नहीं हूं, पर अपने अंदर एक परम शक्ति का प्रभाव महसूस करता हूं। हो भी क्यों न! यह इस देश में ही संभव है कि यहां भगवान राम का अभिनय करने वाले को भी आराध्य मान लिया जाता है। मेरा उससे प्रभावित होना नेचुरल है। पर मैं आडंबर में यकीन नहीं करता हूं। यही वजह है कि आज भी जब कोई राम भक्त किसी बीमार व्यक्ति को इलाज के लिए मेरे पास ले आता है, तो मैं उन्हें समझा-बुझा कर किसी अच्छे डॉक्टर के पास भिजवाता हूं। राम की कुछ ऐसी कृपा है कि वह जल्द स्वस्थ भी हो जाता है। यह बदलाव नहीं तो क्या है। मेरे साथ आप भी बोलो- राम जी की जय!
प्रस्तुति-असीम चक्रवर्ती

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक रोल ने बदल दी लाइफ: अरुण गोविल