DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिलाओं में गर्भपात, बांझपन का कारण प्रतिरोधक कोशिकाएं

महिलाओं में गर्भपात, बांझपन का कारण प्रतिरोधक कोशिकाएं

एक नए अध्ययन से पता चला है कि महिलाओं में बांझपन और गर्भपात का कारण प्रतिरोधक :इम्यून: कोशिकाएं होती हैं। वैज्ञानिकों के एक अंतरराष्ट्रीय दल ने अंडाशय में प्रतिरोधक कोशिकाओं (मैक्रोफेजेजस) :श्वेत रक्त कणिकाओं: की भूमिका का अध्ययन किया। ये कोशिकाएं अंडाशय में विकसित हो रहे अंडों के तथा हार्मोन उत्पन्न करने वाली रचनाओं के समीप बहुतायत में होती हैं।

चूहों पर किए गए अध्ययन में वैज्ञानिकों ने पाया कि जब इन कोशिकाओं का क्षरण होता है तो अंडाशय में उत्पन्न होने वाले प्रोजेस्टेरोन हार्मोन की मात्रा घट जाती है। अंडाशय द्वारा उत्पन्न प्रोजेस्टेरोन हार्मोन गर्भावस्था को बनाए रखने के लिए जरूरी होता है।

अनुसंधानकर्ता दल की प्रमुख एलिसन केयर ने बताया ऐसा लगता है कि अंडाशय में अंडे के विकास के लिए रक्त आपूर्ति करने में मैक्रोफेजेस की अहम भूमिका होती है जिस पर पहले विचार नहीं किया गया। उन्होंने कहा इस प्रकार हम पाते हैं कि अंडाशय की सामान्य गतिविधि में, गर्भावस्था बनाए रखने में और गर्भपात रोकने में मैक्रोफेजेस की अहम भूमिका होती है।

उन्होंने कहा कि धूम्रपान, मोटापा, कुपोषण और तनाव आदि के कारण मैक्रोफेजेस कोशिकाओं की प्रवत्ति में बदलाव आ सकता है और इसका नतीज बांझपन अथवा गर्भपात भी हो सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महिलाओं में गर्भपात, बांझपन का कारण प्रतिरोधक कोशिकाएं