DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पढ़िए जब भैंस पर बैठकर घूम रहा था एक पागल

पढ़िए जब भैंस पर बैठकर घूम रहा था एक पागल

एक पागल भैंस के ऊपर बैठकर घूम रहा था।
दूसरा पागल: अबे, तुझे पुलिस पकड़ लेगी। तूने हेलमेट नहीं पहना है।
पहला पागल: अरे पागल, नीचे देख। ये टू व्हीलर नहीं, फोर व्हीलर है।

----------------------------------
पागलों के एक अस्पताल में सभी पागल नाच रहे थे। सिर्फ एक पागल बैठा था। डॉक्टर को लगा कि वो ठीक हो गया है।
डॉक्टर (पागल से): तुम क्यों नहीं नाच रहे हो?
पागल: अरे पागल, मैं दूल्हा हूं।

----------------------------------

टीचर (रिंकू से): आज फिर तुमने होमवर्क नहीं किया?
रिंकू: सर, लाइट नहीं थी।
टीचर: तो मोमबत्ती जला लेते।
रिंकू: सर, माचिस नहीं उठा सकता था।
टीचर: क्यों नहीं उठा सकते थे?
रिंकू: माचिस मंदिर में रखी थी और मैं नहाया नहीं था।
टीचर: नहाए क्यों नहीं थे?
रिंकू: सर टंकी में पानी नहीं था और मोटर चला नहीं सकता था।
टीचर: मोटर क्यों नहीं चला सकते थे?
रिंकू: सर लाइट नहीं थी!

----------------------------------

टीचर (पप्पू से): बताओ बेटा, हमें दूध को फटने से रोकने के लिए क्या करना चाहिए?
पप्पू: सर, ये तो बहुत सिंपल है। हमें दूध पी जाना चाहिए।

----------------------------------

टीचर (रिपू से): बताओ, जिस आदमी के दोनों हाथ न हों, उसे हिंदी और इंग्लिश में क्या कहेंगे?
रिपू : हिंदी में ‘ठाकुर’ और इंग्लिश में ‘हैंड्स फ्री’

----------------------------------

एक मकान पर उसके मकान मालिक ने ‘मकान खाली है’ का बोर्ड लगा रखा था। उसने यह भी लिखा था कि यह मकान उन लोगों को दिया जायेगा, जिनके बाल-बच्चे न हों।
एक दिन एक बच्चा मकान मालिक के पास आया ओर बोला: मेहरबानी करके यह मकान मुझे दे दीजिए, मेरा कोई बच्चा नहीं है, केवल मां-बाप हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पढ़िए जब भैंस पर बैठकर घूम रहा था एक पागल