टीम वर्क से पाएं मनचाही सफलता - टीम वर्क से पाएं मनचाही सफलता DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टीम वर्क से पाएं मनचाही सफलता

टीम वर्क से पाएं मनचाही सफलता

यह ठीक है कि आप वन मैन आर्मी की तरह काम करना चाहते हैं, लेकिन सामूहिक शक्ति हमेशा बड़ी होती है। देश, समाज से लेकर संस्थान तक में टीम भावना से ही आगे बढ़ा जा सकता है। इसलिए टीम का हिस्सा बनने के गुणों को पैदा कर लीजिए। किसी संस्था या कंपनी में काम करते हुए आपको अलग-अलग परिवेश से आए लोगों के साथ काम करना होता है। ऐसी स्थिति में अक्सर लोगों के बीच व्यावहारिक तथा अन्य कारणों से मनमुटाव पनपने लगता है और इसका सीधा असर व्यक्तिगत कार्य और कंपनी की उत्पादकता पर पड़ता है।

इस नकारात्मक स्थिति में न तो पूरी क्षमता से कंपनी विकास कर पाती है और न व्यक्ति विशेष को ही कोई लाभ मिल पाता है। इसलिए आपसी मनमुटाव से बचते हुए मिल कर काम करने में भलाई है। यह बात हमेशा ध्यान रखनी चाहिए कि व्यक्तिगत सफलता सामूहिक प्रयासों से हासिल की गई तरक्की में ही संभव है, इसलिए अपने सहकर्मियों के साथ टीम के रूप में काम करने पर जोर दें। आपकी टीम श्रेष्ठ बने और अपने हर काम में अव्वल साबित हो, इसके लिए हम कुछ टिप्स दे रहे हैं। इन्हें अमल में लाकर आप अपनी टीम के साथ असाधारण प्रदर्शन कर सकते हैं।

नेतृत्व
कंपनियों में हमेशा किसी न किसी नए प्रोजेक्ट की शुरुआत होती रहती है। इनमें काम करने के लिए कुछ कर्मचारियों की टीम बनाई जाती है। टीम में शामिल किए गए सदस्य कंपनी के अन्य विभागों से भी हो सकते हैं और नई नियुक्तियों के जरिए लाए गए भी। इनमें से किसी एक को टीम के नेतृत्व का जिम्मा दिया जाता है। कंपनी के इस फैसले को स्वीकारते हुए टीम के सभी सदस्यों को उसके निर्देशों का पालन करना चाहिए। टीम का नेतृत्वकर्ता ही प्रोजेक्ट के अपेक्षित परिणाम के लिए जिम्मेदार होता है।

संवाद
लक्ष्य प्राप्ति के लिए रखे गए समय को देखते हुए टीम के सदस्यों को बैठक करनी चाहिए। इससे सभी सदस्य आपस में काम के दौरान आ रही मुश्किलों और संभावित उपायों पर विचार कर सकेंगे। संवाद की यह प्रक्रिया टीम को नई ऊर्जा के साथ काम करने की प्रेरणा देगी।

संसाधनों का करें लेनदेन
अपनी भूमिका के मुताबिक काम करते हुए टीम के सभी सदस्य व्यक्तिगत रूप से कुछ संसाधन जुटा लेते हैं। ये संसाधन डेटा, आइडिया, सुझाव और तकनीक आदि के रूप में हो सकते हैं। इन्हें टीम के अन्य सदस्यों के साथ साझा करें। ऐसा करने से टीम का कीमती समय बचेगा और लक्ष्य पाने के काम में तेजी आएगी।

तय हों लक्ष्य
टीम के सभी सदस्यों को अपनी व्यक्तिगत भूमिका की जानकारी हो। उन्हें यह पता हो कि बतौर टीम वह क्या हासिल करना चाहते हैं। ऐसा होने पर टीम आसानी से अपेक्षित परिणाम हासिल कर पाएगी।

प्रतिबद्धता हो शत-प्रतिशत
जब टीम को किसी लक्ष्य को पूरा करने का दायित्व सौंपा जाता है तो लक्ष्य को कई हिस्सों में बांट दिया जाता है। टीम के हर सदस्य के पास एक खास काम होता है, जिसे एक निर्धारित समय-सीमा में पूरा करना होता है। अगर टीम का एक भी सदस्य निश्चित समय-सीमा में काम को पूरा नहीं कर पाता तो लक्ष्य पूरा करने में देर होने लगती है। इसलिए टीम के हर सदस्य के भीतर काम को लेकर प्रतिबद्धता और निरंतरता के भाव का होना जरूरी है।

अहम को रखें दूर
टीम के रूप में काम करते हुए व्यक्तिगत अहं का होना अच्छा नहीं है। यह भावना सदस्यों के बीच मनमुटाव पैदा करती है और दूरियां बढ़ाती है।
इससे टीम के लक्ष्य पर नकारात्मक असर पड़ता है, इसलिए टीम के लक्ष्य को प्राथमिकता देते हुए अपने अहं को काम पर हावी नहीं होने देना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टीम वर्क से पाएं मनचाही सफलता