DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्राम पंचायतों को नगरपालिका में मिलाने का विरोध

नगरपालिका परिषद की ओर से क्षेत्र की 70 ग्राम सभाओं को नगरपालिका में शामिल करने के निर्णय का विरोध होना आरंभ हो गया है। इसी क्रम में उत्तराखंड राज्य निर्माण सेनानी मोर्चा के प्रतिनिधियों ने भी ग्राम सभाओं को नगरपालिका में शामिल करने का विरोध किया है।पदमपुर स्थित मोर्चा कार्यालय में आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए अध्यक्ष महेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि पिछले तीन सालों से नगरपालिका परिषद ने शहर की सुंदरता को बिगाड़ कर रख दिया है। इसका प्रमाण मोटर नगर में निर्माणाधीन आधुनिक बस अड्डे की हालत को देखकर मिल जाता है। कार्यदायी संस्था ने मोटर नगर में खुदाई कर निर्माण कार्य करने की जहमत तक नहीं उठाई। इसका परिणाम यह है कि जो वाहन पहले मोटर नगर में खड़े होते थे वे अब देवी रोड पर यत्र-तत्र खड़े होकर जाम लगा रहे हैं। इसके अलावा नगर पालिका अब तक सीवर का ट्रीटमेंट करने में भी असफल रही है। कहा कि जब नगरपालिका परिषद शहर को ही नहीं संभाल पा रही है तब ग्राम सभाओं के विलय के कारण हुए विस्तारीकरण को कैसे संभालेगी।वक्ताओं ने कहा कि कोटद्वार विधायक अगर नगर निगम बनाना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें सर्वप्रथम सभी जनप्रतिनिधियों के साथ चर्चा करनी चाहिए। इसके बाद ही निगम गठन की ओर कदम उठाने चाहिए। ऐसा न होने पर वक्ताओं ने आंदोलन की चेतावनी दी। बैठक में अखिलेश बड़थ्वाल, पंकज उनियाल, नवीन चमोली, हयात सिंह, तेजेन्द्र सिंह, गायत्री भट्ट, मंजू जखमोला, संगीता रावत, सरस्वती देवी, धीरेन्द्र सिंह और गुलाब सिंह रावत आदि थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Opposition to join Gram Panchayats in municipality