अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ राहत के दोषी बख्शे नहीं जाएंगे

अररिया । एक प्रतिनिधि

कलेक्ट्रेट स्थित आत्मन कक्ष में डीएम की अनुपस्थिति में एडीएम सह डीडीसी आमोद कुमार शरण ने मासिक प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इसमें उन्होंने स्वास्थ्य,शिक्षा, सामाजिक सुरक्षा सहित अन्य विभागों की उपलब्धियां गिनाई। नगर निकाय चुनाव को लेकर उन्होंने बताया कि आयोग के स्तर से कार्यक्रम जारी कर दिया गया है। सात अप्रैल से जहां नामांकन शुरू होगा वहीं 14 मई को वोटिंग होगी। जबकि 16 मई को मतगणना होना है। उन्होंने बाढ़ राहत राशि में हुए गड़बड़ी को लेकर पूछे सवाल पर कहा कि इसमें कोई भी दोषी होगा तो बचेगा नही। लेकिन जनप्रतिनिधि, सरकारी कर्मी जिन्होंने लाभुकों की सूचि पर हस्ताक्षर किया था उन्होंने उनसबों का बचाव करते हुए कहा कि प्रलय के वक्त सभी लोग जल्दबाजी में सूचि तैयार करते हैं। एडीएम ने कहा कि डीएम के स्तर से सभी सीओ को सख्त निर्देश दिया गया है कि गलत तरीके से लाभ लेने वालों से राशि वसूल करें अन्यथा प्राथमिकी दर्ज करने को भी कहा है। उन्होंने एक सवाल में कहा कि लगभग पांच प्रतिशत ही गड़बड़ी हुई है। इधर नरपतगंज के मनरेगा योजनाओं की जांच और जादुई ट्रेक्टर मामले में हुई कार्रवाई पर उन्होंने कहा कि जांच चल रही है। लेकिन उन्होंने यह बात साफ़ किया कि शिकायती आवेदन में कोई स्पष्ट जानकारी नही दी गयी है। मासिक प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की जानकारी देते हुए कहा कि इस वर्ष अबतक 9785 महिलाओं का बंध्याकरण , 194 पुरुषों की नसबंदी हुई है। बताया कि नई उत्पाद नीति 2016 के तहत एक अप्रैल 16 से 28 मार्च 17 तक उत्पाद विभाग ने 4825 जगहों पर छापेमारी की है। इस दौरान 782 अभियुक्तों को गिरफ्तार भी किया गया। जबकि 16 गाड़ियों को जब्त किया गया और इसमें नौ को राजसात किया गया। मौके पर उप निर्वाचन पदाधिकारी अनिरुद्ध प्रसाद यादव और एडीपीआरओ गुप्तेश्वर कुमार आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Flood relief convicts will not be spared