DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रावणी मेले में पहले से बेहतर व्यवस्था होगी : गौवा

श्रावणी मेले में पिछली बार से बेहतर व्यवस्था करें। साफ-सफाई पर विशेष जोर हो। किसी प्रकार की दुर्घटना की आशंका न रहे। मुख्य सचिव राजीव गौवा ने मंगलवार को ये बातें देवघर परिसदन में श्रावणी मेला-2015 की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। उन्होंने कहा कि भक्तों की भक्ति और श्रद्घा के अनुरूप अपनी तैयारियों पर खरा उतरने की तैयारी करें। मुख्यमंत्री का निर्देश है कि मेले की तैयारी में कोई कसर ना रहे। यह पिछली तैयारियों से बेहतर हो।

23 जुलाई तक पहुंच जाएंगे मजिस्ट्रेट व पुलिस बल
सुरक्षा मामलों की समीक्षा करते हुए सीएस ने कहा कि 23 जुलाई तक सभी प्रतिनियुक्त सुरक्षा बल अपने प्रतिनियुक्ति स्थल पर पहुंच जाएं, यह सुनिश्चित हो। डीजीपी सुनिश्चित करेंगे कि पुलिस व सुरक्षाकर्मी बेहतर हों। भक्तों के प्रति संवेदनशील व्यवहार करें। देवघर और दुमका के डीसी व एसपी सभी प्रतिनियुक्त कर्मियों को मेले की चुनौतियों के अनुरूप सजग और संवेदनशील बनाने के लिए मार्गदर्शन करें।

किसी भी भक्त के साथ व्यवहार मर्यादापूर्ण, सेवा भावना से ओत-प्रोत होना चाहिए। डीजीपी डीके पांडेय ने बताया कि सभी पुलिस कर्मी सहित सुरक्षा बल 23 जुलाई को प्रतिनियुक्ति स्थल तक पहुंच जाएंगे। साथ ही सभी प्रतिनियुक्त मजिस्ट्रेट भी 23 जुलाई तक अपना कार्य संभाल लें, यह भी सुनिश्चित करने कहा गया। आपदा प्रबंधन हेतु एनडीआरएफ की 52 सदस्य टीम तैयार रहेगी।

मलमास से भादो तक सुनिश्ति हो सफाई व्यवस्था :
मुख्य सचिव ने कहा कि साफ-सफाई के लिए व्यापक स्तर पर अभी से अभियान चलाने की आवश्यकता है। मलमास, श्रावणी व भादो मेला के दौरान पूरे मेला क्षेत्र में साफ-सफाई सुनिश्चित की जाए। डीसी किसी प्रोफेशनल टीम, एनजीओ या निजी संस्था की मदद लें, ताकि इसकी निगरानी व पर्यवेक्षण हो।

कांवरियों के लिए झारखंड सीमा अंतर्गत शौचालय आदि जन-सुविधा केंद्र बनाए जाएं। महिला भक्तों की सुविधा व जरूरतों का विशेष ध्यान रखा जाए। बैठक में पेयजल, सड़क, स्वास्थ्य, यातायात, बिजली आदि को लेकर भी विस्तृत चर्चा की गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:श्रावणी मेले में पहले से बेहतर व्यवस्था होगी : गौवा