DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चंदवा में व्यवसायी की हत्या, बवाल

चंदवा के बड़े व्यवसायी, कांग्रेस नेता और समाजसेवी प्रह्लाद प्रसाद साहू उर्फ लादू बाबू की सोमवार को दिन-दहाड़े हत्या कर दी गई। घटना से गुस्साए लोगों ने भारी बवाल काटा। पुलिस ने भीड़ पर नियंत्रण के लिए लाठी चार्ज किया और हवा में गोलियां भी चलाईं। लोगों ने हत्या और पुलिस कार्रवाई के खिलाफ एनएच 75 (रांची-पलामू) और एनएच 99 (चंदवा-बालूमाथ) को कई जगहों पर जाम कर दिया। पूरे इलाके में शोक और तनाव है। पुलिस ने हत्या के सिलसिले में एक युवक को हिरासत में लिया है। 

घटनाक्रम
दिन में करीब 11:30 बजे मुख्य बाजार में स्थित मोटर पाट्र्स की दुकान पर लादू बाबू बैठे थे। तभी वहां पल्सर मोटरसाइकिल से दो युवक पहुंचे। उन्होंने रिंच मांगा। इसी दौरान उन्होंने लादू बाबू के सिर में गोली मार दी और थाना के सामने से कुड़ू की ओर भाग निकले। गोली लगने से वहीं गिरे लादू बाबू को ग्रामीणों ने तत्काल अस्पताल पहुंचाया। वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस करीब घंटे भर बाद अस्पताल पहुंची। इससे लोग आक्रोशित हो गए। उन्होंने पुलिस का विरोध किया। एसआइ करुणा सिंह की बात से लोग और उत्तेजित हो गए। उनके साथ हाथपाई हो गई। भीड़ ने पुलिस गाड़ी को उलट दिया। इसके बाद इंदिरा गांधी चौक पर भी पुलिस की एक गाड़ी को उलट कर क्षतिग्रस्त कर दिया गया। पुलिस ने पहले लाठी चार्ज किया। फिर 13 चक्र हवाई फायरिंग की।

इधर लादू बाबू की हत्या की खबर फै लते ही पूरा चंदवा बंद हो गया। आक्रोशित लोगों ने एनएच 99 और एनएच 75 को एक दर्जन स्थानों पर बाधित कर चक्का जाम कर दिया। रेलवे साइडिंग पर धावा बोल जेसीबी और हाइवा में आग लगा दी। कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। शाम चार बजे जाम हटाया गया।

बवाल की सूचना पाकर एसपी अजय लिंडा, एडीएम आंतनु अग्रहरि थाने पहुंचे। उन्होंने परिजनों और प्रमुख लोगों से बात की। राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति लोकनाथ प्रसाद भी वहां पहुंचे। स्थानीय लोगों ने एक स्वर से कहा कि इस हत्या में कोल माफि या का हाथ है। चंदवा रेलवे स्टेशन पर आम्रपाली कोलियरी की साइडिंग बनाने से फैल रहे प्रदूषण का जनकल्याण समिति के अध्यक्ष लादू बाबू विरोध कर रहे थे। सभी के समझाने और अविलंब कार्रवाई के आश्वासन के बाद लोग पोस्टमार्टम के लिए शव सौंपने के लिए तैयार हुए। एसपी ने कहा कि एक संदिग्ध युवक को बाइक के साथ पकड़ा गया है।

दामाद  ने किया था मना
करीब दो महीने पहले लादू बाबू ने कहा था कि यूपी में रहनेवाले उनके दामाद ने उन्हें आंदोलन करने से मना किया था, क्योंकि इसमें कई बड़े लोग शामिल हैं। उस वक्त उन्होंने बुध बाजार के पास स्थित अपने घर में रखे टेबुल पर फैले कोल डस्ट को भी दिखाया था। उन्होंने कहा था कि अपने दामाद की बातों को वह हंस कर टाल गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चंदवा में व्यवसायी की हत्या, बवाल