DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उपवास पर रहे हजारीबाग जेल में बंद माओवादी

रविवार को जयप्रकाश नारायण केन्द्रीय कारा, हजारीबाग में बंद 40 माओवादी बंदी भूख हड़ताल पर रहे। जेल बंदी संघर्ष समिति के बैनर तले एक दिनी उपवास रख उन्होंने सतबरवा में हुई मुठभेड़ को फर्जी बताया। भूख हड़ताल का नेतृत्व कर रहे मुख्तार अंसारी और संजय सिंह ने कहा कि सतबरवा के बकोरिया में नौ जून को पुलिस ने सात निर्दोष ग्रामीणों की जान ले ली।

ऐसे पुलिसकर्मियों पर हत्या का मुकदमा चलाते हुए सजा देने की मांग उन्होंने की। संजय सिंह ने बकोरिया घटना की जांच किसी स्वतंत्र एजेंसी से कराने की मांग राज्य और केंद्र सरकार से की। दोनों ने मारे गए निर्दोष ग्रामीणों के आश्रितों को 50-50 लाख का मुआवजा और उनके एक-एक आश्रित को सरकारी नौकरी देने की भी मांग की। इससे पहले आंदोलनकारी बंदियों ने सुबह का नाश्ता और दिन का भोजन भी नहीं लिया। माओवादी बंदी अपने-अपने वार्ड में दिन भर उपवास कर रहे।

जेल प्रशासन ने शाम को बताया कि कुछ हार्डकोर माओवादी बंदियों ने बकोरिया घटना को लेकर एकदिनी उपवास रख कर विरोध प्रकट किया। बंदियों ने इस संबंध में एक ज्ञापन भी दिया है। शाम को सभी आंदोलनकारी बंदियों ने भोजन लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उपवास पर रहे हजारीबाग जेल में बंद माओवादी