DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य की महिलाओं को मुफ्त ड्राइविंग लाइसेंस

राज्य की महिलाओं को मुफ्त में ड्राइविंग लाइसेंस दिया जाएगा। राज्य सरकार ने महिला सशक्तिकरण और वाहन चालन के प्रति महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए यह फैसला किया है। मुख्यमंत्री रघुवर दास की इस बारे में की गई घोषणा पर कार्रवाई शुरू हो गई है। इस प्रस्ताव को सहमति के लिए वित्त विभाग के पास भेजा गया है।

प्रस्ताव के अनुसार लाइसेंस काआवेदन देने के बाद महिलाओं को ड्राइविंग टेस्ट देना पड़ेगा। अभी लाइट मोटर वेह्किल (एलएमवी ) लाइसेंस  के लिए वास्तविक रूप से लगभग एक हजार रुपए खर्च करने होते हैं। फिर इधर-उधर के खर्च को मिला कर यह दो हजार रुपए तक पहुंच जाता है।

विधानसभा के बजट सत्र में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने महिलाओं में स्वरोजगार की भावना और आत्मनिर्भरता बढ़ाने के लिए मुफ्त ड्राइविंग लाइसेंस देने की घोषणा की थी। मुख्यमंत्री अभी परिवहन विभाग के प्रभारी मंत्री भी हैं, इसलिए उन्होंने विभाग के इस प्रस्ताव पर अपनी सहमति दे दी है। विधि विभाग ने भी हरी झंडी दिखा दी है।

वर्तमान में ड्राइविंग लाइसेंस के लिए महिला आवेदकों की संख्या सीमित है, इसलिए राज्य सरकार को बहुत अधिक राजस्व की क्षति नहीं होगी। वित्त विभाग की सहमति के बाद कैबिनेट की स्वीकृति भी ली जाएगी। इससे आदिवासी एवं गरीब महिलाओं को बड़ी राहत मिलेगी।

इधर स्कूटी का चलन बढ़ गया है। इसलिए वर्तमान में पूरे राज्य में महिलाओं के लगभग 12 हजार ड्राइविंग लाइसेंस हर साल बन रहे हैं। विभाग के आंकड़े के अनुसार झारखंड में अभी 80 हजार महिलाओं के पास ड्राइविंग लाइसेंस है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राज्य की महिलाओं को मुफ्त ड्राइविंग लाइसेंस