DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव को रांची में दफनाया

हजारीबाग सिविल कोर्ट में मंगलवार को गैंगवार में मारे गए डॉन सुशील श्रीवास्तव की हत्या की प्राथमिकी हजारीबाग सदर थाने में बुधवार को दर्ज की गई। इस मामले में गैंगस्टर किशोर पांडेय गिरोह के विकास तिवारी को नामजद किया गया है। विकास के अलावा किशोर के पिता कामेश्वर पांडेय, भाई बबलू पांडेय और किशोर के खास शूटर संजीत नियोगी को भी आरोपी बनाया गया है। हजारीबाग कोर्ट परिसर में बम और गोलियों से हुए हमले में पेशी पर लाए गए डॉन सुशील समेत तीन कैदी मारे गए थे।  इधर, बुधवार को रिम्स में पोस्टमॉर्टम के बाद मृतक सुशील श्रीवास्तव के शव को उसके परिजनों को सौंप दिया गया। देर शाम रांची के धुर्वा स्थित कब्रिस्तान में उसे ईसाई रीति-रिवाज से दफना दिया गया। 

क्या है एफआइआर में

प्राथमिकी के अनुसार, जेल से भारी सुरक्षा के बीच कोर्ट में 10.30 बजे सुबह पेशी के बाद सुशील श्रीवास्तव को ले जाया जा रहा था। गुलमोहर पेड़ के पास दो लोग सुशील का पैर छूने लगे। अभी वे उन्हें हटाने का प्रयास कर ही रहे थे कि बोलेरो से उतर कर एक व्यक्ति एके 47 के साथ 15 गज की दूरी से फायरिंग करने लगा। इसके बाद हमलावर चाहरदीवारी फांदकर पल्सर और दूसरे वाहन पर सवार होकर निकल भागे। इस दौरान पुलिसकर्मियों की फायरिंग में एक शूटर को गोली लगी जिससे उसकी एके 47 राइफल गिर गई। एफआइआर में अपराधियों की ओर से 20-30 राउंड और पुलिस की ओर से 13 राउंड फायरिंग की बात कही गई है। शूटरों की गाड़ी से स्मोक बम, गाड़ी के कागजात, जो कि शहनवाज आलम बहेरा के नाम से हैं, हत्या की जिम्मेवारी लेनेवाला पर्चा आदि चीजें बरामद की गईं हैं। प्राथमिकी सबइंस्पेक्टर वीरेंद्र प्रसाद सिंह की शिकायत पर दर्ज हुई है।

आइजी ने की उच्चस्तरीय बैठक
आइजी तदाशा मिश्रा ने कहा- अपराधी चाहे कितने भी चालाक क्यों न हों बच नहीं पाएंगे। उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। हमलावर गैंग के सदस्यों को चिन्हित किया जा रहा है। पुलिसकर्मियों ने बहादुरी दिखाई है। हत्यारों पर गोलियां दागी, जिसमें एक को गोली लगी और वह एके 47 छोड़कर भागा। आइजी सदर थाने में बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में बोल रही थीं।

इससे पहले उन्होंने परिसदन में कोर्ट की घटना को लेकर उच्चस्तरीय बैठक की। इसमें डीआइजी उपेंद्र कुमार, एसपी हजारीबाग अखिलेश कुमार झा और रामगढ़ एसपी एम तामिलवामन मौजूद थे। आइजी ने कोयलांचल से हत्या के तार जुड़े होने को लेकर हजारीबाग और रामगढ़ पुलिस में बेहतर तालमेल के साथ पूरे मामले के उद्भेदन पर जोर दिया।

पूरे गैंग का सफाया कर देंगे : मुकेश
रामगढ़। सुशील श्रीवास्तव को मारकर जो जश्न मना रहे हैं उनकी उलटी गिनती शुरू हो गई है। पहले भोला पांडेय और किशोर को मारा, अब पूरे गिरोह का सफाया कर देंगे। सुशील के खास गुर्गों में शुमार मुकेश सिंह ने बुधवार को यह बात हिन्दुस्तान को फोन पर कही। इधर बेटे ने भी चेताया कि पांडेय गिरोह को मारे बिना नहीं मरेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव को रांची में दफनाया