DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपराधिक गतिविधि वाले नहीं बन सकेंगे ठेकेदार

आपराधिक गतिविधि वाले नहीं बन सकेंगे ठेकेदार

झारखंड भवन निर्माण विभाग ने संवेदक नियमावली-2015 का गठन किया है। इसके तहत अगर कोई ठेकेदार सजायाफ्ता है या भ्रष्टाचार में लिप्त पाया जाता है तो उसे ब्लैकलिस्टेड करते हुए लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।

आए दिन ठेकेदारों के बारे में मिल रही शिकायतों के आधार पर यह प्रावधान किया गया है। राज्य भवन निर्माण विभाग के आदेश से नियमावली जारी कर दी गई है। नियमावली में ठेकेदारों के साथ नियमित बैठक का भी प्रावधान किया गया है। प्रमंडलीय स्तर पर त्रैमासिक और अंचल स्तर पर अर्द्धवार्षिक बैठक होगी।

ये है प्रावधान
नई नियमावली के तहत केवल ऑनलाइन निबंधन होगा
निबंधन की तिथि से होगा संवेदक की वरीयता का निर्धारण
हर श्रेणी के संवेदक के लिए शिक्षा का मानक भी हुआ तय


चार श्रेणियों में होगा निबंधन
श्रेणी 1 : 02 लाख रुपये (2.50 करोड़ की निविदा के लिए)
श्रेणी 2 : 01 लाख रुपये (50 लाख से 2.50 करोड़ तक के लिए)
श्रेणी 3 : 25 हजार रुपये (10 लाख से 50 लाख तक)
श्रेणी 4 : 10 हजार रुपये (10 लाख रुपये तक)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:contractor will not be criminal activity