DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बांग्लादेशी हिन्दू चाहते हैं मोदी उठाएं अल्पसंख्यकों का मुद्दा

बांग्लादेशी हिन्दू चाहते हैं मोदी उठाएं अल्पसंख्यकों का मुद्दा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की शनिवार से शुरू हुई दो दिवसीय बांग्लादेश यात्रा के बीच बांग्लादेश के हिन्दू समुदाय ने कहा कि वे धार्मिक कट्टरपंथियों के अत्याचार के भय में जी रहे हैं और चाहते हैं कि मोदी इसका संज्ञान लेकर बांग्लादेशी नेतृत्व के समक्ष यह मुद्दा उठायें।

बांग्लादेश हिन्दू बुद्धिस्ट क्रिश्चियन यूनिटी काउंसिल के महासचिव राणा दासगुप्ता ने कहा कि धार्मिक बहुसंख्यक कट्टरपंथी समूह चाहते हैं कि हिन्दू ये देश छोडकर चले जाएं जबकि हम यहीं जन्मे और यहीं पले बढे़। उन्होंने कहा कि हिन्दू धार्मिक कट्टरपंथियों के अत्याचार के भय में जी रहे हैं। हिन्दुओं का मानना है कि वैश्विक नेतृत्व क्षमता रखने वाले देश के रूप में भारत उनके हालात में सुधार कर सकता है।

दासगुप्ता ने कहा कि हम महसूस करते हैं कि भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बांग्लादेश की कट्टरपंथी ताकतों को कड़ा संदेश देना चाहिए कि अल्पसंख्यकों पर हमले बर्दाश्त नहीं किये जाएंगे। प्रख्यात रंगकर्मी पीयूष बंदोपाध्याय चाहते हैं कि मोदी अल्पसंख्यकों विशेषकर हिन्दुओं की चिन्ताओं को बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के समक्ष उठायें। निस्संदेह शेख हसीना सरकार अल्पसंख्यकों के प्रति मित्रवत है लेकिन हम महसूस करते हैं कि यदि मोदी बीच में पडें तो और अधिक लाभ होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बांग्लादेशी हिन्दू चाहते हैं मोदी उठाएं अल्पसंख्यकों का मुद्दा