nepal govt in crisis after maoists withdraw support - नेपाल सरकार संकट में, माओवादियों ने समर्थन वापस लिया DA Image
13 नबम्बर, 2019|5:57|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेपाल सरकार संकट में, माओवादियों ने समर्थन वापस लिया

नेपाल सरकार संकट में, माओवादियों ने समर्थन वापस लिया

नेपाल में प्रधानमंत्री केपी ओली नीत गठबंधन सरकार आज गंभीर संकट में फंस गई जब गठबंधन में शामिल सीपीएन-माओवादी सेंटर ने नौ महीने पहले सत्ता में आई सरकार से समर्थन वापस ले लिया। इस पार्टी ने प्रधानमंत्री पर पुराने समझौतों को लागू करने में नाकाम रहने का आरोप लगाया।

सीपीएन माओवादी प्रमुख प्रचंड ने सीपीएन-यूएमएल नीत गठबंधन सरकार से समर्थन वापस लेने की घोषणा करते हुए कहा कि ओली की पार्टी मई में सीपीएन-यूएमएल और माओवादी सेंटर के बीच नौ महीने पहले हुए नौ बिन्दुओं के समझौते और नेतृत्व परिवर्तन के समझौते को लागू करने में झिझक रही है।

प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में प्रचंड ने नया संविधान और पुराने समझौतों को लागू करने का जिक्र किया और कहा कि उनकी पार्टी हमेशा राष्ट्रीय आमसहमति बनाने के समर्थन में रही है।

उन्होंने कहा कि सरकार से समर्थन वापस लेने के पार्टी के फैसले से राष्ट्रीय आम सहमति बनाने में मदद मिलेगी।

प्रचंड द्वारा हस्ताक्षरित पत्र में कहा गया कि हमारी पार्टी ने नया कानून लागू करने, संक्रमणकालीन न्याय के साथ शांति प्रक्रिया के लिए बचे कार्य पूरे करने, मधेसियों, जनजातियों और थारूओं द्वारा उठाए गए मुद्दों को सुलझाने और लोगों को राहत पहुंचाने तथा पिछले साल के भयंकर भूकंप के बाद देश का पुनर्निर्माण करने के लिए राष्ट्रीय आमसहमति की जरूरत महसूस की है।

उन्होंने कहा कि मई में माओवादी पार्टी और सीपीएन यूएमएल के बीच हुए नौ बिन्दुओं के समझौते की भावना भी राष्ट्रीय आमसहमति वाली है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:nepal govt in crisis after maoists withdraw support